Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

अपहरण के बाद युवती से दुष्कर्म

अपहरण के बाद युवती से दुष्कर्म

- sponsored -

संवाददाता
बेगूसराय। बेगूसराय में अपहरण के बाद एक लड़की के साथ से रेप का एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। घटना बछवाड़ा थाना क्षेत्र के नवादा की है। हलाके घटना दो माह पूर्व की है लेकिन अब पीड़ित लड़की न्याय पाने के लिए घर की दहलीज पार कर प्रशासन के दरवाजे खटखटा रही है। दरअसल बछवाड़ा थाना क्षेत्र के नवादा की रहने वाली रूपम कुमारी (काल्पनिक नाम) ने आरोप लगाया है कि 9 मार्च को जैसे ही वह अपने घर से निकली कि घर से बाहर एक बोलेरो में पांच आदमी सवार थे, जिन्होंने रूपम का अपहरण कर लिया तथा अपहरण के बाद कोई जहरीला पदार्थ नाक पर रख दिया जिससे रूपम बेहोश हो गई। बाद में सभी आरोपी रूपम को लेकर कहीं अन्यत्र चले गए जहां हाथ पैर बांधकर उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। रूपम के अनुसार तीन आरोपी जो बछवाड़ा थाना क्षेत्र के ही दरगहपुर के रहने वाले हैं, सुमित कुमार, रूपक कुमार एवं कमल पासवान लेकिन दो आरोपी की पहचान नहीं हो सकी है। रूपम के अनुसार बाद में आरोपियों के द्वारा जबरन उससे शादी की बात परिवार वालों के बीच कहबाई गई। बाद में किसी तरह रूपम वहां से फरार होने में सफल हुई। फिर अपने परिवार वालों को सारी बात बताई इसके बाद थाने में मामला दर्ज हुआ। वहीं इस घटना के सामने आने के बाद गांव में भी आरोपियों के प्रति आक्रोश भर गया और गांव के लोग रूपम को न्याय दिलाने के लिए प्रशासन के दरवाजे खटखटाने लगे। अब पीड़िता के साथ ग्रामीणों ने प्रशासन से आरोपियों को पकड़ने सहित पीड़िता के साथ न्याय की गुहार लगाई है। साथ ही साथ ग्रामीणों ने कहा कि अगर पीड़िता के साथ न्याय नहीं हुआ तो हम लोग सड़क पर भी उतरने को तैयार हैं।
पुलिस के अनुसार यह मामला दो माह पुराना है जिसमें कई बातें सामने आ रही हैं। पुलिस ने रूपम के द्वारा अपने बयान को बदलने का भी आरोप लगाया है। साथ ही साथ इसे राजनीतिक द्वेष की घटना भी बता रही है। पुलिस ने बताया की रूपम के द्वारा जिस कमल पासवान पर आरोप लगाया गया है वह पंचायत समिति सदस्य हैं और किसी राजनीतिक महत्वाकांक्षा की वजह से भी इन्हें घसीटा जा सकता है। फिलहाल पुलिस सारे बिंदुओं पर जांच कर रही है। गौरतलब है कि पांच आरोपियों में से एक सुमित कुमार की गिरफ्तारी पुलिस कर चूकी है लेकिन रूपक कुमार अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है। फिलहाल इस घटना की पूरी सच्चाई तो पुलिस जांच के बाद ही पता चल पाएगी। लेकिन प्रथम दृष्टया जो बातें सामने आ रही हैं उसमें यह कहना उचित होगा की महिला सुरक्षा एवं महिला सशक्तिकरण की दिशा में सरकार के द्वारा किए जा रहे तमाम दावे फेल साबित हो रही हैं।

Befor Author Box Desktop 640X165
Before Author Box 300X250
After Related Post Mobile 300X250
After Related Post Desktop 640X165