Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

नक्सलियों ने दो वाहनों को फूंका, लोगों में दहशत

नक्सलियों ने दो वाहनों को फूंका, लोगों में दहशत

- sponsored -

71 माइल से बड़की चांपी तक बनाई जा रही थी सड़क
संवाददाता
बाराचट्टी/गया। प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के समर्थकों ने एक बार फिर सड़क निर्माण में लगे ट्रैक्टर व पोकलेन मशीन को बीती रात देर रात आग के हवाले कर दिया है ।घटना झारखंड के सीमा पर स्थित भलुआचट्टी पंचायत के बड़की चाँपी के निकट शंखवा गांव के निकट घटित हुई है ।जहां देर रात 25 की संख्या में पहुंचे नक्सलियों ने दोनों वाहनों को फूंक दिया है ।प्रतिदिन की तरह सड़क निर्माण में लगे मजदूर व मुंशी काम के बाद गाड़ी खड़ी कर देते थे। इस घटना के पश्चात इलाके में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया है।विदित हो कि बीते 1 मई 2019 की रात भी नक्सलियों ने जयगीर गांव के निकट भोक्ताडीह में सड़क निर्माण में लगे तीन वाहनों को भी फूंक डाला था ।एक पखवारे के भीतर यह दूसरी घटना पुलिस प्रशासन के लिए चुनौती बन गया है ।एक मई 2019 की घटना की रात घटनास्थल पर पहुंचने में विलंब के कारण स्थानीय प्रशासन समेत कोबरा एवं एसएसबी के जवानों को काफी फजीहत उठानी पड़ी थी ।लेकिन इस बार पुलिस ने देर रात में ही घटनास्थल पर पहुंचने में कामयाबी दिखाई है। घटना के पश्चात इलाके मे कांबिंग आॅपरेशन चलाए जा रहे हैं और नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान चलाया जा रहा है। गौरतलब है कि भलुआचट्टी स्थित संबलपुर पेट्रोल पंप के निकट से बड़की चाँपी तक जाने वाली 8 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण औरंगाबाद जिले के रहने वाले भोला शरण सिंह के नाम पर है जबकि स्थानीय तौर पर उदय यादव नामक एक पेटी कॉन्ट्रैक्ट के द्वारा काम कराया जा रहा था। लेवी की मांग को लेकर नक्सलियों ने इस तरह की कार्रवाई का अंजाम दिया है। जानकारी तो यह भी प्राप्त हुई है कि नक्सलियों द्वारा इस घटना को अंजाम दिए जाने के पश्चात झारखंड के सीमावर्ती इलाका राजपुर थाना क्षेत्र में भी पोकलेन व सड़क निर्माण में लगे अन्य वाहनों को भी फूंक डाला है। बताया जा रहा है कि उक्त दोनों घटनाओं का अंजाम भाकपा माओवादी दस्ता के जोनल कमांडर आलोक के नेतृत्व में दिया गया है ।भाकपा माओवादियों ने इस कार्रवाई से क्षेत्र के संवेदको में दहशत का माहौल कायम है ।अब देखना है कि स्थानीय जिला प्रशासन इस मामले में कौन सा कदम उठाती है?

Before Author Box 300X250
Befor Author Box Desktop 640X165
After Related Post Mobile 300X250
After Related Post Desktop 640X165