Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
Breaking News
मुख्यमंत्री के ‘क-ख-ग…’ बयान पर तेजस्वी का पलटवार, कहा – अगर मुझे नहीं आता तो आपने मुझे डिप्टी सीएम क्यों बनायाप्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित लिपिक को रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तारगंगा के जलस्तर में अप्रत्याशित वृद्धि ने ढाया कहर, कई गांव भीषण बाढ़ की चपेट मेंबिहटा में बाइक सवार अज्ञात अपराधियों ने दिनदहाड़े फायरिंग कर फैलाई दहशतसीएम नीतीश ने बक्सर से भागलपुर तक गंगा के जलस्तर का किया हवाई सर्वेक्षणराजद विधायक सीएम आवास के आगे बैठे धरना परमुख्यमंत्री ने विरोधियों पे कसा तंजजानिये किन लोगों को कांग्रेस नहीं देगी टिकट ?जब भाजपा नेता ने पार्टी मुख्यालय में ही पत्नी पर किया हमलामुख्यमंत्री ने बड़बोले नेताओं को चेताया, कहा – बिहार एनडीए में कोई दरार नहीं

नैक एक्रीडेशन को एसएसआर दें कॉलेज : राज्यपाल

10

- Sponsored -

- sponsored -

पटना। राज्यपाल लालजी टंडन ने राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के अंगीभूत महाविद्यालयों को यथाशीघ्र नैक एक्रीडेशन के लिए सेल्फ स्टडी रिपोर्ट दाखिल करने का निदेश दिया है, ताकि इन सबका ह्यनैक एक्रीडेषन हो सके। राज्यपाल ने प्रधान सचिव को नैक प्रत्ययन की विभिन्न प्रक्रियाओं को पूरा किये जाने में हो रही प्रगति की समीक्षा करते रहने को कहा है। राज्यपाल सचिवालय द्वारा की गई समीक्षा से स्पष्ट हुआ कि राज्य के 260 अंगीभूत कॉलेजों ने सर्वे-वर्ष 2018-19 के दौरान आॅल इंडिया सर्वे आॅन हायर एजुकेशन में अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट दाखिल कर दी है। मार्च तक यह उपलब्धि सिर्फ 99 कॉलेजों तक ही सीमित थी। एआईएसएचई में शत-प्रतिशत दर्जगी के बाद सभी कॉलेजों को अविलम्ब अपना इन्स्टीच्यूशनल इनफॉरमेशन फॉर क्वालिटी एसेसमेंट दाखिल करने को कहा गया है। ज्ञातव्य है कि अबतक 260 में से 114 महाविद्यालयों ने अपना आईआईक्यूए दाखिल कर दिया है, जबकि फरवरी, 2019 तक यह संख्या सिर्फ 12 बताई गई थी। आईआईक्यूए के लिए अपनी प्रविष्टि दाखिल कर चुके 114 महाविद्यालयों में से 23 महाविद्यालयों ने एसएसआर भी दाखिल कर दिया है। समीक्षा के दौरान पाया गया है कि राज्य के विश्वविद्यालयों में अब भी 52 ऐसे अंगीभूत महाविद्यालय हैं, जिन्होंने अबतक न तो आईआईक्यूए दाखिल किया और न एसएसआर। ऐसे सभी महाविद्यालयों के प्राचार्यों को निदेशित किया गया है कि वे अविलंब अपना आईआईक्यूए तथा एसएसआर भी दाखिल कर दें; ताकि राज्य के सभी अंगीभूत महाविद्यालयों के नैक एक्रीडेशन का मार्ग प्रशस्त हो सके। राज्यपाल ने प्रधान सचिव एवं सभी कुलपतियों को कहा है कि नैक एक्रीडेशन प्राप्त करने की दिशा में जो प्राचार्य शिथिलता या लापरवाही बरतते हैं, उनके विरूद्ध सख्त अनुशासनिक कार्रवाई की जानी चाहिए।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored