Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
Breaking News
अनंत सिंह मामला : दर्जनों गाड़ियों से पुलिस का पीछा और पथराव, कई लोग हिरासत मेंसारण शूटआउट: दो स्कॉर्पियो पर सवार थे अपराधी, यूपी की ओर भागे!  शर्मनाक … जिसे शहीद कह हम इज्ज्त दे रहे है, उसी शहीद पुलिसकर्मी को लिटा दिया जमीन परबड़े घरों के बिगड़ैल बच्चे , पटना हाई कोर्ट के जज साहब को भी नहीं छोड़ा , DGP साहब को खुद आना पड़ाहाजीपुर में डकैतों से पुलिस का इनकाउंटर ,दो डकैतों को लगी गोली – गिरफ्तारधोनी के रिकॉर्ड की बराबरी करने से एक जीत दूर विराटभारतीय महिला हॉकी टीम फाइनल मेंसुब्रतो कप: सब-जूनियर अंडर-14 रिलायंस फाउंडेशन स्कूल ने झारखंड को 4-1 से पराजित कियाएलओसी पर पाकिस्तान की ओर से हुई गोलीबारी में शहीद हुआ बिहार का लाल रविरंजनछपरा : दरोगा और सिपाही शहीद, अपरधियों का तांडव

मुजफ्फरपुर में बच्चों पर चमकी बुखार का कहर, 57 की मौत, अलर्ट जारी

565

- Sponsored -

- sponsored -

साक्षी नेगी

नई दिल्ली, 12 जून 2019: बिहार में चमकी बुखार नामक एक संदिग्ध एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम फ़ैल गया है। ये बुखार बच्चों में तेज़ी से फ़ैल रहा है| बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में इस बीमारी से पीड़ित बच्चों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है|

खबर है कि बीते एक हफ्ते में इस बीमारी ने 57 से ज्यादा बच्चों की जान ले ली है। इस चमकी बुखार से पीड़ित करीब100 बच्चे मुजफ्फरपुर जिले के एसकेएमसीएच अस्पताल में भर्ती हैं। जबकि कुल मिलाकर 150 बच्चों का इलाज चल रहा है। पिछले एक हफ्ते के भीतर चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौत से स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कंप मच गया है और केंद्रीय टीम मुजफ्फरपुर के दौरे पर आई है।

सरकार ने किया अलर्ट जारी

राज्य सरकार ने इस बीमारी से निजात पाने और मरीज़ों की भली-भांति देखरेख करने के लिए राज्‍य के 12 जिलों में स्थित222 प्राइमरी हेल्‍थ सेंटर्स में अलर्ट जारी कर दिया है|

चमकी बुखार से कहर की खबर मिलने के बाद हरकत में आये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कहना है कि बुखार से बच्चों की मौत का मामला गंभीर है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि राज्य के स्वास्थ्य सचिव हालात पर नजर रख रहे हैं। उन्होंने कहा कि सभी डॉक्टरों को अलर्ट कर दिया गया है।

कई जिलों में बीमारी का कहर

- sponsored -

- Sponsored -

डॉक्टरों का कहना है कि इस बीमारी का प्रकोप उत्तरी बिहार के सीतामढ़ी, शिवहर, मोतिहारी और वैशाली में फैला हुआ है। अस्पताल पहुंचने वाले पीड़ित बच्चे इन्हीं जिलों से हैं।

जिला अस्पताल में बिस्तरों की कमी

खबरों के अनुसार मुजफ्फरपुर जिले में बीते सोमवार तक ही इस घातक बुखार से करीब 25 बच्चों की मौत हो जाने का अनुमान है। बताया जाता है कि अस्पताल के दोनों पीआईसीयू यूनिट भरे हुए हैं। और हालात इतने खराब हैं कि बुखार से पीड़ित बच्चों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। जिसके चलते जिला अस्पताल प्रशासन तीसरी यूनिट खोलने की तैयारी में लगा है।

 

श्री कृष्णा कॉलेज में भी हैं मरीज भर्ती

मुजफ्फरपुर जिला अस्पताल में मरीजों के लिए बिस्तर उपलब्ध नहीं होने के कारण कुछ मरीज़ श्री कृष्णा कॉलेज अस्पताल में भी भर्ती है|

श्री कृष्णा कॉलेज के प्रभारी सुनील शाही ने मीडिया से बातचीत में बताया कि 2 जून तक चमकी बुखार से पीड़ित मरीजों की संख्या केवल 13 थी, किन्तु 2 जून से अब तक मरीज़ों की संख्या बढ़ कर 86 हो गयी है| इनमें से अभी तक 31 बच्चों की मौत हो चुकी है|

क्या होता है चमकी बुखार में

चिकित्सकों ने कहा कि इस बुखार से पीड़ित बच्चों को पहले तेज बुखार होता है और फिर शरीर में जकड़न होती है, और मरीज़ बेहोश हो जाता है। चिकित्सकों ने बताया कि उमस भरी गर्मी के कारण चमकी बुखार के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बुखार के कारण पैदा हुए गंभीर हालात को देखते हुए जिला प्रशासन ने मुजफ्फरपुर में चिकित्सकों की 24घंटे ड्यूटी लगा दी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -