Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
BREAKING NEWS


{"effect":"slide-h","fontstyle":"bold","autoplay":"true","timer":"4000"}

बिहार विधान मंडल के संयुक्त बैठक में जलवायु परिवर्तन पर होगा विमर्श

जल संकट और सुखाड़ की स्थिति पर विधान मंडल के संयुक्त बैठक के समक्ष लिया जाएगा अहम् फैसला

25

- Sponsored -

- sponsored -

पटना: राज्य में मॉनसून के देर से आने से इस माह सामान्य वर्षानुपात  से 41 प्रतिशत कम बारिश हुई है | कम बारिश और मॉनसून के विलम्ब से आने के कारण खरीफ फसलों पर बुरा प्रभाव पडा है और भूजल स्तर में कमी आने के कारण पेयजल की संकट उत्पन हो रही है | इसी विषय को लेकर शनिवार को  बिहार विधान मंडल के संयुक्त बैठक बैठक के समक्ष जलवायु परिवर्तन पर विमर्श किया जाएगा |

- sponsored -

- Sponsored -

अल्प वर्षापात और भूगर्भ जल में अत्यधिक कमी आने से राज्य के अनेकों इलाके में पेय जल का संकट छा गया है | उत्तर बिहार में सबसे अधिक जल संकट दर्ज किया गया है| जलाशयों में तालाबों और नहरों में जल की प्रयाप्त मात्रा नहीं होने के कारण कृषि कार्य में बाधा पनप रही है | जिसके कारण प्रदेश में सुखाड़ की इस्थिति उत्पन्न हो सकती है | जलवायु परिवर्तन के कारण मॉनसून पैटर्न में भी परिवर्तन हुआ है जिसके लिए क्रॉप साइकिल को भी परिवर्तित करने की आवश्यकता महसूस हो रही है | भूजल स्तर को रिचार्ज करने के लिए पारंपरिक जल स्रोतों को सुदृढ़ करने की आवश्यकता है | इसके लिए आहर, तालाब, पोखर, कुआँ अदि को उराही करने की जरुरत है | साथ हीं वर्षा के पानी को रेन वाटर हार्वेस्टिंग के माध्यम से जल संचय करने की आवश्यकता है | इन सब के लिए सबसे जरुरी है कि नाहर, पोखर के चारो तरफ पेड़ लगाना होगा | इसके लिए सम्बंधित विभाग को आपसी समन्व स्थापित कर जल संरक्षण के लिए कार्य योजना बनाने की जरुरत है |

जलवायु परिवर्तन से उत्पन्न इस्थिति से निपटने के लिए विभिन्न विभागों के द्वारा कराये जारहे कार्यों के साथ-साथ आम जनों की भागीदरी को भी सुनिश्चित कर उन्हें जागरूक करना अति आवश्यक है |

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored