Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
BREAKING NEWS


{"effect":"slide-h","fontstyle":"bold","autoplay":"true","timer":"4000"}

शराब कारोबार में बाउंसरों का इस्तेमाल , 6 दबोचे गए

राईफल के साथ बाउंसर गिरफ्तार, कार जप्त

6

- Sponsored -

- sponsored -

संवाददाता
दरभंगा : सदर थाना क्षेत्र के बिजुली गुमटी के पास दरभंगा-निर्मली फोरलेन पर पुलिस ने राइफल के साथ एस्कॉर्ट कर रहे शराब से लदी एक ट्रक को जब्त कर 6 कारोबारियों को दबोच लिया। पुलिस ने ट्रक के अलावे राइफल से एस्कॉर्ट कर रहे एक्सक्यूवी महिंद्रा गाड़ी को भी जब्त कर लिया है।

ट्रक से बरामद 287 कार्टून से 2461 लीटर शराब बरामद की गई है। गिरफ्त में आए दिनेश कुमार सदर थाना के लक्ष्मीपुर निवासी हीयालाल यादव का पुत्र है। दूसरा कारोबारी सरोज कुमार यादव, रामनाथ यादव का पुत्र है। जबकि राइफल के साथ बाउंसर के रूप में शराब कारोबारियों के साथ चल रहे विवेक कुमार आरा जिले के भोजपुर थाना स्थित बरौली गांव निवासी स्वर्गीय कृष्णानंद राय का पुत्र है।

वहीं ट्रक चालक राजेश राठौर उत्तर प्रदेश राज्य के मैनपुरी जिले के कोतवाली थाने के पतरा हाट निवासी श्रीचंद राठौड़ का पुत्र है। वहीं खलासी आदित्य राठौर अग्रवाल मोहल्ला निवासी तोता रामत राठौर का पुत्र है। जबकि कृष्ण चंद दिल्ली के नजफगढ़ तिलंगपुर कोतला निवासी राजपाल सिंह का पुत्र है। नगर एसपी योगेंद्र कुमार ने बताया कि बड़े हथियार के साथ जिले में पहली बार इतनी बड़ी शराब की खेप बरामद की गई है।

- Sponsored -

- sponsored -

गिरफ्त में आए विवेक कुमार के पास से बरामद राइफल लाइसेंसी बताया गया है। लेकिन किसी भी तरह का कोई अनुज्ञप्ति पुलिस के समक्ष प्रस्तुत नहीं किया। साथ ही राइफल को मॉडिफाई कर नेचर के साथ छेड़छाड़ किया गया है जो अनुज्ञप्ति के विरुद्ध है। ऐसी स्थिति में नगर एसपी ने आर्म्स एक्ट के तहत उसे आरोपित बनाया है।

पूछताछ में विवेक ने बताया कि वह सिक्योरिटी एजेंसी चलाता है। जिसका दिल्ली में कार्यालय रखने की बात कही है, लेकिन उस संबंध में भी कोई खास साक्ष्य प्रस्तुत नहीं किया। सख्ती से जब पूछताछ की गई तो बताया कि वह बाउंसर के रूप में शराब कारोबारियों के लिए काम करता है और हथियार से एस्कॉर्ट कर शराब कारोबारियों को वीआईपी के रूप में प्रस्तुत करता है, ताकि पुलिस को चकमा दे सके इसके एवज में उसे मोटी रकम दिया जाता है।

उसने यह भी बताया इससे पूर्व वह इन लोगों के लिए कई बार दरभंगा में बाउंसर ग्रुप में शराब की खेप को सही सलामत पहुंचाने का काम किया है। वहीं शराब कारोबारी दिनेश कुमार यादव ने बताया कि शराब का असली कारोबारी खुटवाड़ा गांव निवासी गम गम है जो 2 दिन पहले भी शराब से भरी एक ट्रक मंगाया था। सूत्रों के अनुसार इस पूरे नेटवर्क को एसएसपी बाबूराम के निर्देश पर तकनीकी सेल ने उद्भेदन किया है। जिला मुख्यालय से एक टीम बनाकर छापेमारी कराई गई। इसमें ट्रक के चालक खलासी दिनेश यादव को पुलिस ने एक साथ दबोच लिया।

टीम को इस बात की भनक भी नहीं थी कि इस ट्रक को कोई बड़े हथियार के साथ एस्कॉर्ट भी कर रही है। कुछ मिनटों बाद जब ट्रक आगे क्यों नहीं गई तो एस्कॉर्ट गाड़ी पीछे ट्रक को खोजते हुए ट्रक के पास पहुंची, जहां विवेक कृष्ण चंद, सरोज कुमार को एसक्यूपी कार बीआर 06 पीबी- 7777 से दबोच लिया। जब ट्रक यूपी 84 टी- 4207 से शराब के कार्टन के साथ अन्य सामान भी पुलिस ने बरामद किया है जो शराब को छुपाकर लाने की बात कही गई है। नगर एसपी कुमार ने बताया कि लोगों के निशानदेही पर दो अन्य कारोबारियों को गिरफ्तार करने के लिए छापामारी की जा रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored