Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

देश की जनसंख्या नियंत्रित नही हो पाने का एक कारण धार्मिक व्यवधान भी- गिरिराज सिंह

10

- Sponsored -

- sponsored -

बेगूसराय से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद एवं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इशारों-इशारों में एक बार फिर एक धर्म विशेष पर निशाना साधते हुये आज कहा कि देश के जनसंख्या नियंत्रण की राह में धार्मिक व्यवधान बड़ा रोड़ा है।

श्री सिंह ने आज विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर अपने ट्वीट में इशारों-इशारों में कहा कि देश की जनसंख्या नियंत्रित नही हो पाने का एक कारण धार्मिक व्यवधान भी है। उन्होंने कहा कि देश वर्ष 1947 की तर्ज पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है।

- Sponsored -

- sponsored -

भाजपा नेता ने कहा, “हिंदुस्तान में जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है। ऐसे में सभी राजनीतिक दलों को साथ होकर जनसंख्या नियंत्रण क़ानून के लिए आगे आना होगा।”

इतना ही नहीं श्री सिंह ने अपने ट्विटर वॉल पर पोस्ट किये गये एक पोस्टर में कहा, “धरती को जनसंख्या विस्फोट से बचाएं। किसी घर के कमरे में अपने कम्प्यूटर के सामने बैठकर विचार कर पाना मुश्किल है लेकिन फिर भी कई ऐसी बातें हैं, जिन्हें यदि ध्यान में रखा जाये तो शायद जनसंख्या वृद्धि की दर कम होगी।”

केंद्रीय मंत्री ने दो बच्चों के जन्म की नसीहत देते हुये कहा कि जिन बालिकाओं का विवाह कम उम्र में हो गया है वे केवल दो बच्चों को जन्म देने की सोच रखें तथा उन्हें अच्छी परवरिश दें। उन्होंने कहा कि परिवार कल्याण जैसे कार्यक्रम को समझें और उपयोग में लाएं। विज्ञापनों के जरिये दी जाने वाली जानकारी को समझने की कोशिश करें। आने वाली पीढ़ी को शिक्षित और नये विचार से समृद्ध बनायें।
श्री सिंह ने जनसंख्या वृद्धि को लेकर भारत और अमेरिका बीच की तुलना दिखाने वाला एक पोस्टर भी पोस्ट किया है, जिसमें बताया गया है कि वर्ष 1947 से लेकर वर्ष 2019 तक जहां अमेरिका की जनसंख्या में 113 प्रतिशत की वृद्धि हुई वहीं भारत की जनसंख्या में 366 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।
गौरतलब है कि विवादित बयानों के कारण हमेशा सुर्खियों में रहने वाले श्री सिंह ने इस वर्ष 18 जून को भी ट्वीट कर कहा था, “बढ़ती जनसंख्या और उसके अनुपात में घटते संसाधन को कैसे झेल पाएगा हिंदुस्तान। जनसंख्या विस्फोट हर दृष्टिकोण से हिंदुस्तान के लिए खतरनाक।” उन्होंने संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के हवाले से कहा कि भारत वर्ष 2027 में चीन को पीछे छोड़ बन जाएगा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored