Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
Breaking News
मुख्यमंत्री के ‘क-ख-ग…’ बयान पर तेजस्वी का पलटवार, कहा – अगर मुझे नहीं आता तो आपने मुझे डिप्टी सीएम क्यों बनायाप्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थापित लिपिक को रिश्वत लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तारगंगा के जलस्तर में अप्रत्याशित वृद्धि ने ढाया कहर, कई गांव भीषण बाढ़ की चपेट मेंबिहटा में बाइक सवार अज्ञात अपराधियों ने दिनदहाड़े फायरिंग कर फैलाई दहशतसीएम नीतीश ने बक्सर से भागलपुर तक गंगा के जलस्तर का किया हवाई सर्वेक्षणराजद विधायक सीएम आवास के आगे बैठे धरना परमुख्यमंत्री ने विरोधियों पे कसा तंजजानिये किन लोगों को कांग्रेस नहीं देगी टिकट ?जब भाजपा नेता ने पार्टी मुख्यालय में ही पत्नी पर किया हमलामुख्यमंत्री ने बड़बोले नेताओं को चेताया, कहा – बिहार एनडीए में कोई दरार नहीं

मलेरिया माह में दवाओं के छिडकाव एवं जागरूकता पर बल

मलेरिया से बचाव हेतु स्वास्थ्य केन्द्रों को दिशा निर्देश जारी, अभियान में आशा एवं आंगनवाड़ी का मिल रहा सहयोग

32

- Sponsored -

- sponsored -

नवादा: बरसात की शुरुआत होते ही मच्छरों की संख्या में इजाफ़ा होने से मलेरिया से ग्रसित मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगती है। इसको देखते हुए जिले मे मलेरिया की रोकथाम हेतु हर साल 1 जून से 30 जून तक मलेरिया माह मनाया जाता है।

इस वर्ष भी जिले में मलेरिया माह मनाया जा रहा है। मलेरिया से बचाव के लिए जिले के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों को मलेरिया की दवा का वितरण एवं इसके प्रति जन-जागरूकता बढ़ाने के लिए जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण विभाग द्वारा दिशा निर्देश भी जारी किया गया है। जिला वेक्टर जनित रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ उमेश चन्द्र ने बताया मलेरिया माह के सफ़ल क्रियान्वयन के लिए सभी पीएएचसी को दिशा निर्देश जारी कर दिया गया है। मलेरिया माह में दवाओं के वितरण को सुनिश्चित कराने के लिए स्वास्थ्य केन्द्रों पर जरुरी दवा उपलब्ध करा दी गयी है।

साथ ही मलेरिया की जाँच के लिए सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर किट भी उपलब्ध कराए गए हैं। अभियान को सफल बनाने के लिए आशा एवं आंगनवाड़ी की भी सहायता ली जा रही है। इसके लिए उन्हें प्रशिक्षण प्रदान कर सामुदायिक स्तर पर मलेरिया के प्रति आम जागरूकता फ़ैलाने की ज़िम्मेदारी दी गयी है।

डॉ चन्द्र ने बताया कि जिले के कौआकोल प्रखण्ड में मलेरिया के सर्वाधिक प्रकोप को देखते हुए डीटीडीसी पाउडर का छिडकाव 10 जून से 10 नवम्बर तक नियमित रूप से किया जाएगा। छिडकाव दो फेज मे चलेगा। पहला फेज जून से अगस्त और दूसरा सितम्बर माह से नवम्बर माह तक चलाया जाएगा। इसके लिए पाँच सदस्यों की टीम बनाई गई है जो इस अभियान को मजबूती प्रदान करेंगे तथा आशा एवं आंगनवाड़ी को भी जन-जागरूकता में सहयोग करेंगे।

- Sponsored -

- sponsored -

क्या है मलेरिया

मलेरिया मादा एनोफलीज मच्छर के काटने से होता है। मलेरिया के मच्छर रुके हुये साफ या धीरे बहते पानी में पैदा होते हैं। इसकी रोकथाम एवं उपचार दोनों संभव है। सर्दी व कंपन के साथ एक दृदो दिन छोड़कर बुखार, तेज बुखार, उल्टियाँ एवं सिर दर्द, बुखार उतारने के बाद शरीर से तेज पसीना आने के साथ थकावट एवं कमजोरी होना मलेरिया के लक्ष्णों में शामिल है।

ऐसे करें मलेरिया से बचाव

हैंडपम्प के पास, बेकार पड़े टायर व बर्तनों में, फूलदान में जमे पानी से एवं बेकार पड़े टायर में जमे पानी से मच्छर को पनपने से रोकें। इसके लिए इनकी नियमित सफ़ाई जरूर करें। घर में हमेशा सोने से पहले मच्छर दानी का इस्तेमाल जरूर करें। ठहरे हुये पानी में जैसे तालाब, कुएं आदि में गम्बोजिया मछ्ली पालें।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored