Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
Breaking News
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधनमध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का निधनfacebook , whatsapp और अन्य सोशल मीडिया के लिए आधार की जरुरत – जरा सोचियेझिल्ली चौक के पास चोर को ग्रामीणों ने पकडकर की पिटाई, पुलिस ने किया गिरफ्तारअनंत सिंह मामला : दर्जनों गाड़ियों से पुलिस का पीछा और पथराव, कई लोग हिरासत मेंसारण शूटआउट: दो स्कॉर्पियो पर सवार थे अपराधी, यूपी की ओर भागे!  शर्मनाक … जिसे शहीद कह हम इज्ज्त दे रहे है, उसी शहीद पुलिसकर्मी को लिटा दिया जमीन परबड़े घरों के बिगड़ैल बच्चे , पटना हाई कोर्ट के जज साहब को भी नहीं छोड़ा , DGP साहब को खुद आना पड़ाहाजीपुर में डकैतों से पुलिस का इनकाउंटर ,दो डकैतों को लगी गोली – गिरफ्तारधोनी के रिकॉर्ड की बराबरी करने से एक जीत दूर विराट

आठ बार जगजीवन राम यहाँ से सांसद रहे, क्या बेटी इस बार जीतेंगीं?

सासाराम लोकसभा सीट पर कांटे की टक्कर के बीच त्रिकोणीय मुकाबले की संभावना बढ़ी

69

- Sponsored -

- sponsored -

कैमर : सासाराम संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव का प्रचार शुक्रवार को शाम 6 :00 बजे थम गया है । इस आखिरी एवं सातवें चरण का मतदान 19 मई को होगा । बिहार का सासाराम लोकसभा सीट इस लिहाज से काफी चर्चित रहा है कि यहां से लगातार आठ बार बाबू जगजीवन राम निर्वाचित सांसद रहे और  उपप्रधानमंत्री की कुर्सी तक का सफर किए और साथ ही उनकी पुत्री मीरा कुमार ने पहली लोकसभा अध्यक्ष के रूप में देश की कमान संभाल चुकी है । इस सीट पर एनडीए गठबंधन से भाजपा उम्मीदवार छेदी पासवान मैदान में लगातार दूसरी बार मैदान में हैं, जबकि महागठबंधन से कांग्रेस प्रत्याशी व पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार हैं । इस सीट पर दोनों गठबंधन के प्रत्याशियों को दो से तीन पंचवर्षीय प्रतिनिधित्व का मौका मिला किन्तु विकास का नतीजा सिफर रहा । ऐसे में कैमूर-रोहतास के पहाड़ी गांवों में पेयजल, सड़क, सिंचाई सुविधाओं का विकास नहीं होने का ठीकरा एक-दूसरे पर फोड़ रहे हैं । इन समस्याओं के साथ त्रिकोणीय मुकाबले के लिए बसपा प्रत्याशी मनोज राम पूरे दमखम से मैदान में है । उनकी बढ़ी जनाधार ने दोनों गठबंधन प्रत्याशियों के निंद हराम कर दिया । इस बार भी लोकसभा चुनाव में सासाराम सुरक्षित सीट से दोनों पुराने प्रतिद्वंद्वी आमने-सामने के बीच इस सीट पर त्रिकोणीय मुकाबले की संभावना बढ़ गई है । बता दें कि पिछले चुनाव में भाजपा के छेदी पासवान ने मीरा कुमार को 63 हजार मतों हराया था । वर्ष 2014 के चुनाव में कहा जाता था कि एनडीए की लहर चल रही है । उस लहर में सासाराम, करगहर व मोहनियां विधानसभा क्षेत्रों में छेदी आगे तो रहे  पर बहुत बड़ा अंतर खड़ा नहीं कर सके । इस बार के चुनाव में ब्राह्मण व कुशवाहा जाति के वोटरों पर दोनों प्रत्याशियों की नजर है । इस चुनाव में इन्हीं दोनों जातियों का वोट निर्णायक होगा । ब्राह्मण पुराने कांग्रेसी माने जाते हैं और कुशवाहा समाज पर रालोसपा सुप्रीमो उपेन्द्र कुशवाहा कुमार की पकड़ है तथा रविदास, मुस्लिम, बिंद, मल्लाह, नोनिया और अन्य कई छोटी जातियों के वोटर के लिए मुकेश साहनी जाने जाते हैं और उक्त दोनों नेता महागठबंधन में शामिल हैं । वहीं भाजपा के साथ बनिया, कुर्मी, राजपूत समाज के वोटर हैं । कुशवाहा व ब्राह्मण जाति के वोटर इस बार किसके साथ रहेंगे यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है । ब्राह्मण और राजपूत वोटरों को रिझाने के लिए भाजपा ने सांसद सह भोजपुरी फिल्म जगत के लोकप्रिय अभिनेता मनोज तिवारी को चेनारी और पवन सिंह को भभुआ में उतार चुका है । हालांकि सासाराम लोकसभा सीट पर भाजपा के छेदी पासवान निवर्तमान सांसद है़ं । उन्हें 2014 के चुनाव में 366087 मिला वहीं उनके निकटतम प्रतिद्वंदी रहीं कांग्रेस की मीरा कुमार को 302760 मत हासिल हुए थे़ । इस बार 2019 के चुनाव में कुल मतदाता 1771940, जिनमें 928127 पुरुष, 843776 महिला और 37 ट्रांजेडर हैं । 1952 से यहां अब तक 10 बार कांग्रेस, दो बार जनता दल, दो बार जनता पार्टी, चार बार भाजपा के प्रत्याशी ने जीत हासिल की है़ । इनमें वर्ष 2014 के अलावा 1989 व 1991 में छेदी पासवान सांसद रहे़ 1980 में जनता पार्टी के टिकट पर चुनाव जीते जगजीवन राम देश के उपप्रधानमंत्री भी रहे़ इस संसदीय क्षेत्र से आठ बार जगजीवन राम सांसद रहे़ जबकि दो बार 2004 एवं 2009 में इनकी बेटी मीरा कुमार सांसद रहीं ।

- Sponsored -

- Sponsored -

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored