सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

इंडिया ग्रिन्स पार्टी की बैठक कल, पर्यावरण के मुद्दे पर होगी चर्चा

- sponsored -

रांची : इंडिया ग्रिन्स पार्टी की एक दिवसीय बैठक 12 जनवरी 2020 को कोकर स्थित एसोसिएशन भवन में रखा गयी है। इस बैठक में मुख्य रूप से पार्टी के राष्टÑीय अध्यक्ष सुरेश नौटियाल उपस्थित रहेंगे और उनकी अध्यक्षता में ही बैठक की जाएगी। बैठक के दौरान झारखंड के कई पर्यावरण मुद्दे पर चर्चा होगी। बैठक में पूरे प्रदेश से पार्टी की विचारधारा से जुड़े कार्यकर्त्ताओं को बुलाया गया है।

बैठक में केन्द्रीय नेता अनीता नौटियाल भी उपस्थित रहेंगी। जल, जंगल, जमीन, पर्यावरण, सुरक्षा, समृद्धि आदि कई मुद्दे ऐसे हैं जिसके खिलाफ झारखंड में बड़े पैमाने पर क्षति पहुंचाई जा रही है। अनाधिकृत और गैर कानूनी तरीके से सरकार एवं कॉरपोरेट कंपनियां झारखंड के पर्यावरण को क्षति पहुंचा रही है। पार्टी से जुड़े रंजीत कुमार मिश्र का कहना है कि पर्यावरण को लेकर पूरी दुनिया में माहौल बनने लगा है। पश्चिम के देशों में इस मुद्दे को लेकर पार्टियां खड़ी की गयी है और वहां ये मुद्दे जोर पकड़ रहे हैं।

भारत में भी पर्यावरण को केन्द्रीय मुद्दा बनाकर चुनाव लड़ने कीयोजना बनाई जा रही है। इस योजना को साकार रूप प्रदान करने के लिए इंडिया ग्रीन्स पार्टी का गठन किया गया है। इस पार्टी का केन्द्रीय चिंतन पर्यावरण है। झारखंड प्रदेश में भी पार्टी अपना जनाधार बढ़ाने की योजना बना रही है। इसी योजना को साकार करने के लिए 12 जनवरी यानी रविवार को एक बैठक रखी गयी है।

- Sponsored -

यह पार्टी पर्यावरण को लेकर संघर्ष करने वाली पार्टी है। फिलहाल इस पार्टी का अखिल भारतीय स्वरूप तैयार हो चुका है। पार्टी ने 10 राज्यों में अपना काम बढ़ा लिया है। अभी हाल ही में पार्टी की केन्द्रीय समिति की बैठक भी हुई थी और राष्टÑीय अधिवेशन भी दिल्ली में संपन्न हुआ था। अधिवेशन में पर्यावरण से संबंधित कई प्रस्ताव पारित किए गए थे। अधिवेशन में सर्वसमत्ति से तय किया गया कि इस पार्टी को जल्द से जल्द अखिल भारतीय स्तर पर खड़ा करना है।

पार्टी के स्थानीय प्रभारी रंजीत कुमार मिश्र ने बताया कि झारखंड एक ऐसा प्रांत है जहां पर्यावरण से संबंधित कई मामले हैं। यहां जितना पर्यावरण के खिलाफ काम हो रहा है उतना शायद ही कही हो रहा होगा। इसलिए पार्टी ने तय किया है कि पर्यावरण को बचाने के लिए झारखंड में एक मजबूत राजनीतिक दल का गठन किया जाना जरूरी है।

आने वाले समय में यह दल केवल राजनीतिक मंच पर ही नहीं, जन संघर्ष के माध्यम से भी पर्यावरण के मामले को आगे बढ़ाएगा। कुछ मुद्दों को लेकर प्रदेश के कुछ एक्टिविस्ट 12 जनवरी को कोकर के एसोसिएशन भवन में जुट रहे हैं। यहां झारखंड की आगामी रणनीति पर चर्चा होगी और पर्यावरण राजनीति के केन्द्र में कैसे आए इसपर गंभीर मंथन किया जाएगा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored