सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

उत्तर प्रदेश बाढ़ उप्र तीन अन्तिम लखनऊ

- sponsored -

आधिकारिक सूत्रों ने शनिवार को यहां बताया कि सरयू नदी खतरे ने निशान 92.730 के बदले 93़ 230 मीटर पर बह रही है। नदी खतरे के बिंदु से 50 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। नदी का रुख प्रति घंटे दो सेंटीमीटर बढ़ाव की ओर है|

उन्होने बताया कि पहाड़ी तथा मैदानी क्षेत्रों में हुई वर्षा और बैराज से पानी छोड़े जाने के कारण जलस्तर और बढ़ने के आसार हैं। सरयू नदी में शारदा बैराज से 153584, गिरजा बैराज से 206553 और सरजू बैराज से 11829 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है| सरयू नदी के कटान से 20 से अधिक गांव प्रभावित हो गए हैं। भारत ठाकुर कल्याणपुर संदलपुर, चढ़ावा शुभिका बाबू,भरथा पुर भंवरिया, खजांची पुर, किशनपुर मौजपुर, कटारिया खजांची पुर, खलवा मझियार , बिलासपुर समेत 20 से भी अधिक गांव प्रभावित हो गए हैं। इन गांवों की बोई गई फसल बाढ़ के पानी में डूब गयी है। रास्तों में पानी भर जाने के कारण नागरिकों को आवाजाही में भारी असुविधा उठाना पड़ रहा है। जिला प्रशासन द्वारा नागरिकों के सहायतार्थ 20 नावें लगायी गयी है। नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण किशुनपुर, मौजपुर तथा रंगबाज पर दबाव तेज हो गया है। नदी का दबाव लोलपुर, विक्रमजोत, कटोरिया, चांदपुर बांध पर बना हुआ है। खलवा, चांदपुर, टकटकवा में बांध की सुरक्षा के लिए बाढ़ खंड विभाग द्वारा सीसीटीवी कैमरा लगाकर बंदे की निगरानी की जा रही है|

Posted at: Aug 1 2020 4:02PM

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -