सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

केन्द्रीय गृहमंत्री ने कांग्रेस पर लगाए गंभीर आरोप, पढ़िए पूरी खबर

- sponsored -

रांची : केंद्रीय गृहमंत्री एवं भाजपा के राष्टÑीय अध्यक्ष अमित शाह ने झारखंड के चक्रधरपुर और बहरागोड़ा में कांग्रेस पर एक बार फिर से जुवानी हमला बोला है। यही नहीं कांग्रेस के राजनीतिक मित्र झारखंड मुक्ति मोर्चा पर भी शाह ने निशाना साधा। अपने भाषण में शाह ने राम मंदिर, एनआरसी, सर्जिकल स्ट्राइक जैसे राष्टÑीय मुद्दों पर चर्चा की। उन्होंने स्थानीय मुद्दे उठाए तो जरूर लेकिन जिस तरह से वे आक्रामक दिख रहे थे उससे साफ लग रहा था कि भाजपा ने झारखंड की चुनावी रणनीति में थोड़ा बदलाव किया है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी को सीधी चुनौती देते हुए शाह ने कहा कि राहुल बाबा जब मर्जी आप अपने शासनकाल का हिसाब-किताब लेकर मैदान में आ जाओ। भाजपा सिर्फ विकास के काम करती है। हमारा एक लक्ष्‍य है, भ्रष्‍टाचार मुक्‍त शासन। मोदीजी सुशासन के लिए अब देश-दुनिया में जाने जाते हैं।

शाह ने सभा में आए लोगों से पूछा कि आप बताइए कि देश में से घुसपैठिए जाने चाहिए कि नहीं? कांग्रेस पार्टी कहती है कि एनआरसी मत लाओ, घुसपैठियों को मत निकालो। राहुल बाबा जो बोलना हो बोलो, पर अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं और भाजपा सरकार पूरे देश में एनआरसी लागू कर घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालेगी। मैं आज आप से कहना चाहता हूं कि 2024 चुनाव से पहले पूरे देश में एनआरसी लगाकर घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम भाजपा करेगी।

- Sponsored -

इतने सालों तक भगवान बिरसा मुंडा का स्मारक बनाने की किसी को नहीं सूझी। भाजपा की सरकार ने उनकी जन्मस्थली और उनकी कर्मस्थली पर उनके सम्मान में स्मारक बनाकर भगवान बिरसा मुंडा को सच्ची श्रद्धांजलि देने का काम किया है। हेमंत सोरन को पूछना चाहता हूं कि अलग झारखंड राज्य के लिए जब भाजपा आंदोलन कर रही थी, गुरु जी आंदोलन कर रहे थे, तब कांग्रेस झारखंड की रचना का विरोध कर राज्य के युवाओं पर गोलियां चलवाती थी, डंडे बरसवाती थी।

शाह ने कहा कि झामुमो कांग्रेस जैसी पार्टी के गोद में क्यों बैठे हैं। जो पार्टियां टिकट बांटने में खरीद-फरोख्त करती हों। जो पार्टियां आदिवासियों का शोषण करती हों। जो पार्टियां झारखंड की रचना की विरोधी हों। जो पार्टियां अरबों-खरबों का भ्रष्टाचार करती हों। उन पार्टियों को वोट देकर झारखंड का विकास नहीं हो सकता। आज हेमंत सत्ता के लालच में झारखंड राज्य के निर्माण का विरोध करने वाली कांग्रेस पार्टी की गोदी में बैठकर मुख्यमंत्री बनने निकले हैं। उनका उद्देश्य केवल सत्ता प्राप्त करना है, पर भाजपा का उद्देश्य झारखंड को विकास के रास्ते पर आगे ले जाना है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored