Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

कोरोनावायरस के खतरे के बीच जापान पहुंचीं मशाल, रिले की शुरुआत फुकुशिमा से |

111

टोक्‍यो : कोरोनावायरस के खतरे के बीच शुक्रवार को विशेष लालटेन से ढकी मशाल चार्टर्ड उड़ान से यहां पहुंची। मियागी प्रांत के मतशुषिमा एयरबेस पर टोक्यो ओलिंपिक की ऑर्गेनाइजेशन कमेटी के प्रमुख योशिरो मोरी ने इसकी अगवानी की। मशाल का स्वागत सादे समारोह में किया गया। पूर्व ओलंपिक जूडो चैंपियन साओरी योशिदा और तदाहिरो नोमूरा ने पारंपरिक कुंड में कुछ अधिकारियों या मेहमानों के सामने मशाल प्रज्जवलित की।फुकुशिमा से टॉर्च रिले की शुरुआत121 दिन तक चलने वाली मशाल रिले की शुरुआत 2011 की सुनामी के दौरान बर्बाद हुए फुकुशिमा से होगी। यहां के परमाणु संयंत्र को 2011 में काफी नुकसान पहुंचा था। हालांकि, 9 साल में स्थिति काफी बदल चुकी है। दुनिया को यही दिखाने के लिए जापान ने टॉर्च रिले की शुरुआत इसी शहर से करने का फैसला किया। फुकुशिमा के बाद रैली देश के अलग-अलग शहरों में पहुंचेगी। हालांकि, इसमें लोगों के शामिल होने पर रोक है। लेकिन दर्शक इसे सड़क किनारे खड़े होकर देख सकते हैं। हालांकि, भीड़ बढ़ने पर कार्यक्रम में बदलाव किया जा सकता है। ग्रीस में ओलिंपिक मशाल रैली के दौरान इतनी भीड़ जुट रही थी कि इसे रद्द करना पड़ा था।मशाल थामने वालों का होगा स्वास्थ्य परीक्षणइस बीच, टोक्यो ओलिंपिक की ऑर्गेनाइजेशन कमेटी ने साफ किया है कि मशाल थामने वालों का पहले स्वास्थ्य परीक्षण होगा। टोक्यो ओलिंपिक समिति के अध्यक्ष योशिरो मोरी लोगों का अभिभावन स्वीकार करते हुए कहा हमारे लिए किसी भी कीमत पर मशाल रिले का आयोजन करना जरूरी था। टोक्यो 2020 के सीईओ तोशियो मुटो ने कहा कि गेम्स से पहले ओलिंपिक मशाल का देश में आना बड़ा आयोजन था। हमारे लिए यह अहम था कि हम किसी भी कीमत पर इसका आयोजन करें। चीफ ऑर्गेनाइजर योशिरो मोरी ने कहा कि पहले इस समारोह में 200 बच्चे आने वाले थे। लेकिन सेहत को ध्यान में रखते हुए हमने उन्हें शामिल नहीं करने का फैसला किया। ओलिंपिक की लौ जापान आने के बाद भी गेम्स पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। कई मौजूदा और पूर्व ओलंपियन आईओसी के उस बयान पर ऐतराज जता चुके हैं, जिसमें उसने कहा था कि फिलहाल खेलों को टालने या रद्द जैसे बड़े फैसले का समय नहीं है। क्योंकि वायरस की वजह से खेल टूर्नामेंट, क्वालिफाइंग इवेंट और ट्रेनिंग कैम्प रद्द हो चुके हैं। ऐसे में एथलीट्स इन खेलों के लिए तैयार नहीं है।

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -

%d bloggers like this: