सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जीवन शैली में बदलाव की जरूरत : नायडू

- sponsored -

नई दिल्ली (सन्मार्ग लाइव)  उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने प्रकृति और मानवीय जरूरत के बीच संतुलन बनाने पर बल देते हुए सोमवार को कहा कि मानव जाति को जीवन शैली में बदलाव लाने की जरूरत है .
श्री नायडू ने सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक पर लिखे एक लेख ने कहा कि कोरोना महामारी से पूरी दुनिया घुटनों पर है . यह इसका साफ संकेत है कि मानव जाति को अपना अस्तित्व बचाने के लिए अपनी जीवनशैली में आमूलचूल बदलाव करना होगा . उन्होंने कहा कि महामारी ने जीवन शैली के बारे में सोचने के लिए विवश कर दिया है .आर्थिक गतिविधियां अगर गलत दिशा में हो तो वह भयंकर परिणाम ला सकती है .
उन्होंने कहा कि यह इसका भी संकेत है कि सह- अस्तित्व के बीच ही जीवन संभव है .उन्होंने 12 सूत्रों का उल्लेख करते हुए कहा कि कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए जीवन के प्रति सोच और आर्थिक गतिविधियों के तरीके में बदलाव लाना आवश्यक होगा . जीवन एकांत में संभव नहीं है लेकिन कोरोना महामारी का प्रकोप मिलने जुलने से ज्यादा फैलता है इसलिए ऐसी रास्ते तलाशने होंगे जिससे जीवन भी संभव हो जाए और प्रकोप को भी रोका जा सके . मास्क लगाना, चेहरा ढकना , हाथ साफ रखना, एक दूसरे को नहीं छूना और स्वच्छता बनाए रखना नए तरीके होंगे .
सत्या
जारी सन्मार्ग

Source: Univarta.

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored