Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

झांसी: खाद्य सामग्री और सब्जी के लिए वार्डों में जायेंगे ट्रक, Jhansi: Trucks will go to wards for food and vegetables

झांसी 25 मार्च (वार्ता) देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश के झांसी में रोजाना जरूरत की ,खाने पीने , दूध ,सब्जी तथा फलों को लेकर आम लोगों को किसी तरह की परेशानी से बचाने के लिए प्रशासन ने हर वार्ड में नियत समय पर आपूर्ति सुनिश्चित करने का फैसला किया है।

82

देशभर में कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के मद्देनजर 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान उत्तर प्रदेश के झांसी में रोजाना जरूरत की ,खाने पीने , दूध ,सब्जी तथा फलों को लेकर आम लोगों को किसी तरह की परेशानी से बचाने के लिए प्रशासन ने हर वार्ड में नियत समय पर आपूर्ति सुनिश्चित करने का फैसला किया है।
यहां विकास भवन में बुधवार को पत्रकारों को जानकारी देते हुए जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने कहा कि महानगर में खाद्य सामग्री, फल और सब्जी समेज रोजमर्रा के सामान की कमी किसी कीमत पर नहीं होने दी जायेगी।महानगर के प्रत्येक वार्ड में ट्रक भेजकर नियत समय में आपूर्ति सुनिश्चत की जायेगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि लाॅक डाउन को लेकर लोगों में जो भ्रांतियां फैली हुई हैं कि खाद्य सामग्री और सब्जी आदि की व्यवस्था गड़बड़ाएगी,उसे दूर कर लें। सुबह सब्जी मण्डी में तमाम भीड़ एकत्र होकर पहुंची थी। उसको कंट्रोल करना मुश्किल हो गया था। ऐसा नहीं करना है। हर हाल में प्रत्येक नागरिक के पास सब्जी और दूध पहुंचे इसकी व्यस्था की जाएगी। इसके लिए सभी 60 वार्ड व अन्य मोहल्लों में सब्जी और दूध को ट्रक से भिजवाकर वहां ठेलों में वितरित कराया जाना सुनिश्चत करेंगे। एक वार्ड या मोहल्ले में 10 ठेलों को रखा जाएगा, जो प्रत्येक घर तक दोनाें वस्तुएं पहुंचाएंगे। किराना की दुकानों के खोलने का समय निश्चत किया जाएगा। यह भी तय किया जाएगा कि किसी भी हालत में भीड़ न जुटे और दुकान पर प्रत्येक ग्राहक के बीच कम से कम तीन फुट की दूरी बनी रहे।
उन्होंने एक बार फिर अपील की कि यह सब लोगों की सुरक्षा को देखते हुए करना पड़ रहा है। इसे पूरी तरह से सफल बनाने के लिए लोगों के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि जो इण्डस्ट्रीज यहां संचालित हो रही हैं,उनको ज्यादा दिनों तक नहीं रोका जा सकता है। लेकिन उन्हें चलाने के लिए यह ध्यान रखा जाए कि कम से कम कर्मचारी उसमें आएं ,साथ ही सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी निभाई जाए।
उन्होंने कहा कि जो भी स्वयंसेवी संस्थाएं आर्थिक मदद कर रहीं हैं। उनसे आग्रह है कि वे रेडक्राॅस कोविड-19 के खाते में सहयोग कर सकते हैं। जो भी स्वयंसेवी संस्थाएं गरीबों को खाना वितरित करना चाहते हैं। वे किसी एक बस्ती को गोद लेकर उन्हें भोजन पैकेट पहुंचाने का कार्य करें। इसके लिए उनके वाहन,चालक और सहयोगी के पास बनाकर दिए जाएंगे। इसके अलावा अन्य कहीं भी वे भोजन वितरण नहीं कर सकेंगे। गौरतलब है कि बीती रात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा देश में 21 दिन तक लाॅक डाउन करने की घोषणा के बाद लोगों के बीच ऊहापोह की स्थिति बन गयी थी और इस घोषणा के बाद से ही लोग राशन और सब्जी को जोड़कर रखने की जुगत में लगे हैं। इस स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन ने भी कमरकस ली है और लोगों को समझाया जा रहा है कि किसी चीज की कमी नहीं होने दी जायेगी इसलिए अनावश्यक संग्रहण से बचें।

- sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -

%d bloggers like this: