सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

झारखंड में अभिनव प्रयोग : लिव-इन में रहने वाले 137 जोड़ों की कराई जाएगी शादी

- sponsored -

रांची : लिव-इन में रह रहे 137 जोड़ों की सामूहिक शादी होगी। इस प्रकार की सामूहिक शादी का जिम्मा निमित्त नाम की संस्था ने उठाया है। आगामी 9 फरवरी को एक समारोह के दौरान इन जोड़ों की सामूहिक शादी कराई जाएगी।

निमित्त संस्था की ओर से बताया गया है कि शादी अलग-अलग धार्मिक रीति-रिवाज से होगी। जो जोड़े जिस रीति-रिवाज को मानते हैं, उनकी शादी उसी परंपरा के अनुसार होगी। दरअसल, निमित्त संस्था की सचिव निकिता सिन्हा ने गुरुवार को रांची प्रेस क्लब में एक पत्रकार वार्ता का आयोजन की। पत्रकार वार्ता के दौरान सिंहा ने कहा कि राज्य में बहुत से ऐसे इलाके हैं जहां आदिवासी समाज के लोग बिना शादी किए लिव-इन में रह रहे हैं। ऐसे लिव-इन में रहने वालों को समाज के द्वारा मान्यता नहीं दी जाती और इसके कारण इन्हें कई प्रकार की परेशानी होती है।

सिंहा ने कहा कि पुरुष तो किसी प्रकार सह लेते हैं लेकिन महिलाओं को ऐसे में अधिक मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। निकिता ने कहा कि आदिवासी समाज में ऐसा काफी देखा जाता है। संस्था की ओर से पिछले चार सालों से ऐसे ही जोड़ों को समाज में सम्मान दिलाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सामूहिक विवाह का आयोजन 9 फरवरी को दीनदयाल उपाध्याय नगर स्थित सिविल सर्विस आॅफिर्सस क्लब में किया जायेगा।

- Sponsored -

निकिता ने बताया कि इसके पहले 18 जनवरी को गुमला जिले के 128 जोड़ों का सामूहिक विवाह कराया गया था। उन्होंने बताया कि पहले अलग-अलग जिलों से जोड़ों को चिन्हित कर एक बार ही शादी करायी जाती थी लेकिन इस बार गुमला और रांची में जोड़ों का विवाह कराया गया।

बौक्स …………………….
मां, चार बहन और बेटी की एक साथ कराई जाएगी शादी
9 फरवरी को होनेवाले सामूहिक विवाह के बारे में निकिता ने कहा कि इस विवाह में चार बहनों, मां और बेटी की एक साथ शादी करायी जायेगी। ऐसा पहले भी हुआ है जब बुजुर्ग पिता के साथ बेटी या बेटे की शादी हुई है। ऐसे में इन जोड़ों को समाज में बेहतर स्थान देना, संस्था की पहल है। विवाह आयोजन में निमित्त संस्था को लायंस क्लब और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड की ओर से सहयोग किया जा रहा है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -