सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

दिल्ली में पकड़े गये जैश के दो आतंकियों का सम्बंध देवबंद से |

- Sponsored -

पुलिस अब यूपी में करेगी उनके सम्पर्कों की जांचनयी दिल्ली: दिल्ली से गिरफ्तार जैश के आतंकियों अब्दुल लतीफ मीर व मो. अशरफ खटाना से पूछताछ में उनके देवबंद से सम्बंध का खुलासा हुआ है। दिल्ली पुलिस इन आतंकियों को लेकर शनिवार को देवबंद लेकर रवाना हुई है। मालूम हो कि सोमवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बड़े आतंकी हमले को नाकाम करते हुए आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इन्होंने एक व्हाट्सएप ग्रुप बना रखा था, जिसका नाम जिहाद था। ग्रुप से देवबंद, दिल्ली और तेलंगाना के लोग जुड़े थे। पाकिस्तान का एक व्यक्ति भी इससे जुड़ा हुआ था, जिसके इशारे पर ये काम कर रहे थे। दोनों आतंकी देवबंद भी काफी दिन रुके थे और वहां हथियार चलाने व विस्फोटक बनाने की ट्रेनिंग लेते थे।दिल्ली पुलिस के अनुसार अब्दुल लतीफ मीर व खटाना आतंकी ट्रेनिंग के लिए दिल्ली से होकर देवबंद, यूपी जा रहे थे। यहां पर इनको हथियार चलाने और विस्फोटक बनाने की ट्रेनिंग दी जाती थी। ये आतंकी वारदातों की छोटी ट्रेनिंग लेकर बड़ी ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान जाते थे। ये उत्तर प्रदेश होकर नेपाल के रास्ते पाकिस्तान में प्रवेश करते थे। पाकिस्तान में बैठे जैश के हैंडलर ने इनको कहा था कि देवबंद उन्हें उनका आदमी मिलेगा तो उन्हें आतंकवाद की छोटी ट्रेनिंग दिलवायेगा और उन्हें आतंकवाद की बड़ी ट्रेनिंग के लिए वहां से पाकिस्तान भिजवायेगा। इन्होंने सितंबर व अक्तूबर में तीन बार पाकिस्तान जाने की कोशिश की थी, मगर बॉर्डर पर सख्ती होने के कारण ये पाकिस्तान नहीं जा पाए थे। गिरफ्तार आतंकियों ने पूछताछ में बताया है कि वो सोशल मीडिया पर मौलाना मसूद अजहर को सुनते थे और जम्मू-कश्मीर की आजादी के लिए, पूरी दुनिया में इस्लाम फैलाने के लिए उनसे जुड़ना चाहते थे। स्पेशल सेल के पुलिस अधिकारियों के अनुसार अब्दुल लतीफ मीर के पिता सोपोर जिला कोर्ट में मुंशी हैं। अशरफ खटाना के पिता जेएण्डके एलआई से रिटायर हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -