सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

धनखड़ ने पश्चिम बंगाल पुलिस पर साधा निशाना

- sponsored -

कोलकाता : पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने नादिया के प्लासी शमशानघाट में शहीद जवान सुबोध घोष के अंतिम संस्कार के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद जगन्नाथ सरकार से किये गये दुर्व्यवहार को लेकर राज्य पुलिस की आलोचना करते हुये कहा है कि यह पुलिस अधीक्षक और जिला मजिस्ट्रेट की तरफ से अपने कर्तव्यों का घोर उल्लंघन है। श्री धनखड़ ने मंगलवार को ट्विटर पर कहा, राजनीतिक रूप से कम करने वाले पुलिस अधिकारियों को कानून के क्रोध का सामना करना पड़ेगा। उन्होंने कहा, पश्चिम बंगाल की पुलिस ने नादिया के प्लासी शमशानघाट में शहीद सुबोध घोष के अंतिम संस्कार के दौरान सांसद जगन्नाथ सरकार से जिस तरह का व्यवहार किया वह नादिया के एसपी और डीएम की तरफ से अपने कर्तव्यों का घोर उल्लंघन है। श्री धनखड़ ने कहा, इस संबंध में डीजीपी (पुलिस महानिदेशक) से रिपोर्ट मांगी गयी है। उन्होंने कहा, इस तरह के व्यवहार से लोकतंत्र शर्मसार हुआ है। सत्तारूढ़ पार्टी के सांसद को अतिथि माना जाता है और विपक्षी पार्टी के सांसद से दुर्व्यवहार किया जाता है। राज्यपाल ने कहा, अगर लोकतंत्र को बचाना है तो पश्चिम बंगाल पुलिस को उसके इस व्यवहार के लिए सजा मिलनी चाहिए। गौरतलब है कि 15 नवंबर को करीब 23:30 बजे सेना के शहीद जवान सुबोध घोष का अंतिम संस्कार नादिया के प्लासी शमशानघाट में किया गया था। आरोप लगाया गया है कि इस दौरान राज्य के पुलिस अधिकारियों ने बिना किसी वैध कारण के सांसद जगन्नाथ सरकार को शहीद बेदी/मंच के पास जाने से रोका। सांसद का आरोप है कि उन्हें शहीद जवान को श्रद्धांजलि देने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ा। उन्होंने आरोप लगाया है कि पुलिस ने लोगों के सामने उनका अपना करने के उद्देश्य से ऐसा जानबूझकर किया था।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored