सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पढ़े कौन है कातिल हसीना ? क्यो हुआ है FIR? सुशांत सिंह मर्डर केस का हूबहू FIR

- sponsored -

सेवा में , थाना प्रभारी राजीव नगर पटना बिहार

विषय:-

आरोपी रिया चक्रवर्ती उसके परिजन इंद्रजीत चक्रवर्ती संध्या चक्रवर्ती शोविक चक्रवर्ती सेमियल मिरण्डा ऋतु मोदी एवं अन्य के विरुद्ध धोखाधड़ी बंधक बनाकर रखने एवं आत्महत्या के लिए मजबूर करने पर मुकदमा दर्ज करने हेतु प्रार्थना पत्र

- Sponsored -

श्रीमान जी ,

निवेदन यह है कि प्रार्थी कृष्णा किशोर श्री निवासी को उषा सिंह हाउस रोड नंबर 6 राजीवनगर पटना बिहार का रहने वाला हूं मैं एक वृद्ध व्यक्ति हूं मेरी उम्र करीब 74 साल हो चुकी है मेरी चार बेटियां हैं एक बेटा एक था मेरी पत्नी का साल 2002 में स्वर्गवास हो चुका है मेरे बेटे सुशांत सिंह का उसकी मां से काफी लगाव था मेरा बेटा बहुत बहुत ज्यादा भावनात्मक था यह मुझे मेरी पत्नी के स्वर्गवास के समय महसूस हुआ मेरा पुत्र स्वर्गीय श्री शुशांत सिंह राजपूत फिल्मी जगत के जाने-माने सितारे रहे हैं उसने काई पो चे , व्यमकेश बख्शी , एम एस धोनी, केदारनाथ, छिछोरे, जैसी सुपरहिट फिल्मों की है और भारतीय सिनेमा जगत के बहुत से पुरस्कार अपने अभिनय के बल पर प्राप्त किए हैं मेरा बेटा सुशांत से मई 2019 तक अभिनय जगत में बुलंदियों पर था इसी दौरान रिया चक्रवती नाम की एक

एक लड़की अपने परिजन एवं अन्य के साथ एक सोची समझी साजिश के तहत मेरे बेटे सुशांत सिंह से जान पहचान बनाने लग गई जिससे वह सुशांत सिंह के अच्छे संपर्कों का फायदा उठाकर अपने अपने अभिनय जगत में स्थापित कर पाए और सुशांत सिंह के करोड़ों रुपए पर अपना हाथ साफ कर सके इसी सडयंत्र के चलते को रिया चक्रवर्ती उसके परिजन इंदरजीत चक्रवती संध्या चक्रवर्ती शोविक चक्रवर्ती ने मेरे बेटे से काफी नजदीकियां बढ़ा ली और वे सभी मेरे बेटे के हर मामले में हस्तक्षेप करने लगे इसके उपरांत मेरा बेटा जहां रहा था वहां घर यह का कह कर घर खाली करवाया दिया गया कि इस घर में भूत-प्रेत और का प्रभाव है मेरे बेटे के दिमाग में हो गया है और वहां वहां से मेरे बेटे को मुंबई एयरपोर्ट नजदीक एक रिसोर्ट में ले जाकर ठहरा दिया जहां पर रिया ओर उसका सारा परिवार मेरा बेटा रहने लगे और लगातार मेरे बेटे को इन सभी ने बार-बार कहा कि तुम बहकी बहकी बातें करते हो तुम्हारे दिमाग पर कोई प्रभाव दिक्कत है तुम्हें अच्छे इलाज की जरूरत है इसीलिए किसी अच्छे डॉक्टर से तुम्हारा इलाज शुरू करवाते हैं जब हम यह बात पता चला तो मेरी बेटी सुशांत सिंह से मिली उसे मुंबई से वापस लाने की कोशिश की लेकिन रिया एवं उसके परिजनों ने सुशांत सिंह को मुंबई में ही रहने के लिए एवं वहीं पर इलाज कराने का दबाव बनाया तो सुशांत सिंह को वापस नहीं आने दिया जिस पर मेरी बेटी वहां से वापस आ गए इसके बाद रिया मेरे बेटे सुशांत सिंह का इलाज के बहाने से अपने घर मुंबई में ही ले गई और उसको वहां परओवरडोज़ दवाइयां दी गई उस टाइम रिया ने सब को बतलाया कि सुशांत सिंह को डेंगू हो गया उसका इलाज चल रहा है जबकि सुशांत सिंह को कभी भी डेंगू नहीं हुआ था इसी दौरान या उसके परिजनों ने सुशांत सिंह को सब चीजों को अपने कब्जे में ले लिया परिवार से सुशांत सिंह की बातें बहुत कम हो गई सुशांत सिंह का फोन रिया एवं उसके परिजन अपने पास रखते थे रिया जो फिल्मों के ऑफर शुशांत सिंह को आ रहे थे उसने यह शर्त रखती थी कि अगर मुझे फिल्म में सुशांत के साथ मुझे मुख्य हीरोइन के तौर पर लोगे तो ही सुशांत करेगा सुशांत के
सारे विश्वासपात्र कर्मचारी बदल दिए एवं उसके स्थान पर उसने अपने परिचित नजदीकी नौकरी पर रख ली है सारे क्रेडिट कार्ड बैंक खाते रिया एवं उसके परिजनों के कंट्रोल में थे सुशांत को परिवार से बिल्कुल काट दिया गया था मेरे बेटे का पहले फोन नंबर 93 2439 8079 जो कि दिसंबर में जो ने बंद कर दिया ताकि सुशांत सिंह से बाकी लोग भी अपने आप अलग हो जाए इसकी जगह रिया ने अपने नजदीकी सेमियल मिरिंडा के आईडी पर एक नया फोन नंबर 98208 00308 ले लिया जिससे कभी कभार सुशांत से बात हो जाती थी कई बार शुशांत ने मुझे बताया कि यह लोग मुझे पागलखाने डालना चाहते हैं मैं कुछ कर नहीं पा रहा हूं इसके उपरांत सुशांत मेरी बेटियों से मिलने दिल्ली और हरियाणा आया उसे 2 दिन ही हुए थे जो रिया ने बार-बार फोन करके वापस मुंबई आने के लिए दबाव डाला इस दबाव के कारण मेरा बेटा सुशांत सिंह मुंबई वापस चला गया इसके बाद हमसे बात कम हो गई थी रिया एवं उसके परिजन रिया के द्वारा लगाए गए कर्मचारियों द्वारा अपने हिसाब से सुशांत सिंह का उसकी सम्पर्क को उसके बैंक खाते उसके रकम को अपने हिसाब से अपने फायदे के लिए पूरी तरह इस्तेमाल करना शुरू कर दिया मेरा बेटा सुशांत सिंह फ़िल्म लाइन को छोड़कर और कॉर्ग केरल में ऑर्गेनिक खेती का व्यवसाय करना चाहता था जो उसका दोस्त महेश उसके साथ जाने के लिए तैयार था तब रिया ने इस बात का विरोध किया कि तुम कहीं पर नहीं जाओगे अगर मेरी बातें नहीं मानोगे तो मैं मीडिया में तुम्हारी मेडिकल रिपोर्ट दे दूंगी और सबको बता दूंगी कि तुम पागल हो गए जब रिया को लगा कि सुशांत सिंह उसकी इस बात को नहीं मान रहा है और उसका बैंक बैलेंस भी बहुत कम हो गया है इस पर रिया ने सोचा कि अब सुशांत सिंह उसके किसी काम का नहीं रहा तो रिया जो कि सुशांत सुशांत सिंह उसके किसी काम का नहीं रहा तो रिया जो कि सुशांत के साथ रह रही थी दिनांक 8, 06, 2020 को सुशांत सिंह के घर से काफी सारा सामान जेवरात लैपटॉप पासवर्ड क्रेडिट कार्ड उसके दस्तावेज शुशांत के इलाज के सारे कागजात लेकर चली गई मेरे बेटे सुशांत सिंह का फोन नंबर अपने फोन में ब्लॉक कर दिया इसके उपरांत सुशांत सिंह मेरी बेटी को फोन करके बताया कि मुझे कहीं फंसा देगी वह यहां से काफी सामान लेकर चली गई है वह मेरे को धमकी देकर गई है कि अगर तुमने मेरी बात नहीं मानी तो मैं तुम्हारे सारे इलाज का कागजात मीडिया में ओपन कर दूंगी और तुम पागल हो गए हो तुम्हें आगे कोई काम नहीं मिलेगा और तुम बर्बाद हो जाओगे इसके बाद दिनांक 8 , 09, 2020 की रात को दिशा जो कि शुशांत सिंह के पास अस्थाई तौर पर नियुक्ति उसने आत्महत्या कर ली जिसके कारण मीडिया से यह खबर चलने लगी जिससे मेरे बेटे को बहुत घबराहट हो गई और जिसके चलते मेरे बेटे ने रिया से संपर्क करने की बहुत कोशिश की लेकिन रिया ने मेरे बेटे का फोन नंबर ब्लॉक कर रखा था इसलिए उसका संपर्क नहीं हो पाया मेरे बेटे के अंदर ही अंदर यह डर था कि कहीं इस आत्महत्या के लिए मेरे बेटे को कहीं ना फसा दें इसके बाद मेरे बेटी सुशांत सिंह के पास गई

तथा मेरे बेटे सुशांत सिंह के पास तीन-चार दिनों तक रही और उससे काफी समझाया तथा मेरे बेटे को उसे हौसला दिया कि उसे सब कुछ ठीक हो जाएगा क्योंकि मेरी बेटी की बच्चे छोटे हैं इस कारण वह तीन-चार दिनों के बाद उसको समझा बुझा कर चली गई लेकिन उसके जाने के दो दिन बाद मेरे बेटे सुशांत सीने दिनांक 14, 06 , 2020 को आत्महत्या कर ली रिया उसके परिजन उसकी सहयोगी कर्मचारियों ने षड्यंत्र के तहत मिलकर मेरे बेटे के साथ धोखाधड़ी बेईमानी की है तथा इसे काफी समय तक बंधक बनाकर दबाव से अपने आर्थिक फायदे के लिए इस्तेमाल किया एवं मेरे बेटे को आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया इसलिए उपरोक्त प्रकरण के चलते आप से मेरा नम्र निवेदन है कि निम्न बिंदुओं को संबंध में इनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके अनुसंधान किया जाए ।

1 ,साल 2019 से पहले जब मेरे बेटे सुशांत को कोई भी दिमागी परेशानी नहीं थी तो रिया के संपर्क में आने के बाद अचानक क्या हुआ कि सुशांत सिंह को दिमागी रूप से एकदम परेशानी हो गई इसकी जांच की जाए

2 , यदि इस दौरान वह मानसिक रूप से परेशान था उसका कोई दिमागी इलाज चल रहा था तो इस संबंध में हमसे लिखित या मौखिक अनुमति क्यों नहीं ली गई क्योंकि जब कोई व्यक्ति मानसिक रूप से बीमार होता है तो उसके सारे अधिकार उसके परिवार के ही पास होते हैं इसकी जांच की जाए

3 , इस दौरान जिन जिन डॉक्टरों ने रिया के कहने पर मेरे बेटे सुशांत सिंह का इलाज किया है मुझे लगता है कि यह डॉ भी रिया के साथ ही सारे षड्यंत्र में शामिल थे इस बात की जांच होनी चाहिए कि उन्होंने क्या क्या इलाज किया तथा कौन-कौन सी दवाइयां मेरे बेटे को दी

4 , जब रिया को पता चला कि मेरे बेटे मानसिक हालत नाजुक चल रही है तो इस स्थिति में उसका ठीक तरीके से इलाज न करवाना और उसके इलाज के सारे कागजात अपने पास ले जाना है और मेरे बेटे को उस नाजुक हालत में अकेला छोड़ देना और उसकी हर तरह के संपर्क तोड़ लेना जिसके कारण मेरे बेटे से आत्महत्या कर ली तो उसकी मौत के जिम्मेदार रिया उसके परिजन एवं सहयोगी ही है इसका जांच की जाए

5 , मैंने अपने पुत्र के एक बैंक खाता की स्टेटमेंट से पता लगा कि पिछले एक साल में लगभग 17 करोड रुपए मेरे बेटे के इस खाता नंबर 101 1972591 कोटक महिंद्रा में रहा था इस खाता से इस दौरान करीब 15 करोड रुपए निकाला है इस खाता से पैसा ऐसे खातों में ट्रांसफर हुआ है जिनमें मेरे बेटे का कोई लेना-देना नहीं था मेरे बेटे के सभी खातों की जांच की जाए कि इन खातों क्रेडिट कार्ड से कितना पैसा रिया ने अपने परिजनों एवं सहयोग के साथ धोखा बाजी एवं सडयंत्र से थका है

6 , इस प्रकरण में पहले सुशांत सिंह का अभिनय जगत में पूरा नाम था ऐसे क्या कारण रहे कि रिया के आने के बाद सुशांत सिंह की फिल्म एकदम से कम हो गई इसकी जांच की जाए ।

7 , मेरा बेटा सुशांत सिंह ऑर्गेनिक खेती केवल साईं के लिए कुल केरल अपने दोस्त महेश के साथ जाना चाहता था इसके लिए वह जमीन तलाश रहे थे जब रिया को इस बात का पता चला तो उसने इस बार का विरोध किया और सुशांत को धमकी दी कि मैं तुम्हारे इलाज सारे मेडिकल पेपर पूरे मीडिया में हाईलाइट कर दूंगी और तुम अपने अच्छे रसूक के चलते तुम्हरा सब कुछ बर्बाद दूँगी और अपने सुशांत सिंह ने उसकी इस बात का विरोध किया तो रिया को लगा कि सुशांत से अब उसकी किसी काम का नहीं रहा तो रिया वहां से लैपटॉप कैश जेवर क्रेडिट कार्ड इलाज के दस्तावेज पिन नंबर पासवर्ड के साथ चली गई इस प्रकरण की जांच की जाए

मैंने अपने घर पटना बिहार में रखते हुए बहुत बार अपने बेटे सुशांत से बात करने की कोशिश की लेकिन लिया एवं उसके परिजन एवं सहयोगियों ने हमेशा मेरी सारी कोशिशों को नाकाम कर दिया और ना ही उसे मेरे पास पटना में आने दिया मैं बुजुर्ग आदमी हूं मेरी उम्र 74 साल है मैं अपने बेटे के निधन के चलते चौक में हूं करीब 40 दिन गुजर चुके हैं लेकिन मुंबई पुलिस मुख्य आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही ना करने के दिन लोग कि इस प्रकरण में कम भूमिका रही है उनके ऊपर जांच किए जा रही है और आज तक किसी के विरुद्ध कोई भी अभियोग दर्ज नहीं किया गया है मुझे पूरा पूरा यकीन है कि यदि उपरोक्त तथ्यों के आधार पर मुकदमा दर्ज करके जांच की गई तो सच्चाई सबके सामने आ पाएगी और उपरोक्त धोखेबाज एवं सडयंत्र कारी गिरोह का पर्दाफाश हो सकेगा और पूरी दुनिया यह जान सके कि कि उनका प्रिय अभिनेता किस तरह का शिकार हुआ है जिसके कारण उनका उनका प्रिय अभिनेता उनसे दूर हुआ है आपसे निवेदन है कि आप उपरोक्त सभी के खिलाफ अभियोग धारा 306 / 342 /380 /406 / 420/506/120 / भा दी स० एवं मेंटल हेल्थ केअर एक्ट के तहत दर्ज कर एक-एक आईटी गठित करके इसके खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए


- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -