सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पाकुड़ में सैकड़ों छठ व्रतियों ने घर पर दिया उदयगामी सूर्य अर्घ्य

- Sponsored -

 

 

 

 

 

राम प्रसाद सिन्हा

पाकुड : जिले में लोक आस्था का महापर्व छठ भक्तिपूर्ण माहौल में सम्पन्न हुआ। जिले के नदियों तालाबों पर छठ का आयोजन हुआ जहां हजारों श्रद्धालुओं ने भगवान भास्कर को पहला एवम दूसरा अर्घ्य दिया। वही सैकड़ों छठ व्रतियों ने अपने अपने घरों में भगवान सूर्य की आराधना की और अपने घर के छत पर अर्घ्य दिया। कोरोना को लेकर जारी गाइड लाइन का अनुपालन करते हुए महापर्व छठ के मौके पर डूबते एवम उगते सूर्य को सैकड़ों छठ व्रतियों के साथ श्रद्धालुओं ने अर्घ्य दिया । महापर्व छठ के अवसर पर दर्जनों छठ घाटों पर भगवान सूर्य की प्रतिमा स्थापित कर पूजा अर्चना की गयी। छठ घाटों पर आकर्षक विद्युत सज्जा भव्य पंडाल एवम पूजा अर्चना देखने निकटवर्ती पश्चिम बंगाल से भी श्रद्धालु पहुंचे। जिला प्रशासन द्वारा छठ घाटों की सुरक्षा के अलावे मेडिकल गोताखोर की भी व्यवस्था की गयी थी। दूसरा अर्घ्य देने के बाद आस्था का महापर्व भक्तिपूर्ण माहौल में सम्पन्न हुआ।जिले के बाँसलोई त्रिपतिया नदियों के अलावे दर्जनों तालाबों पर छठ पूजा का आयोजन किया गया।कालीभासान टिन बंगला साधु अखड़ी शिवशीतला मंदिर तांती पाड़ा मालगोदाम तलवा डांगा आदि स्थानों पर स्थित तालाबों के छठ घाटों पर श्रद्धालुओं एवम छठ व्रतियों की सबसे ज्यादा भीड़ उमड़ी।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

- Sponsored -

राम प्रसाद सिन्हा

पाकुड : जिले में लोक आस्था का महापर्व छठ भक्तिपूर्ण माहौल में सम्पन्न हुआ। जिले के नदियों तालाबों पर छठ का आयोजन हुआ जहां हजारों श्रद्धालुओं ने भगवान भास्कर को पहला एवम दूसरा अर्घ्य दिया। वही सैकड़ों छठ व्रतियों ने अपने अपने घरों में भगवान सूर्य की आराधना की और अपने घर के छत पर अर्घ्य दिया। कोरोना को लेकर जारी गाइड लाइन का अनुपालन करते हुए महापर्व छठ  के मौके पर  डूबते एवम उगते सूर्य को सैकड़ों छठ व्रतियों के साथ श्रद्धालुओं ने अर्घ्य दिया । महापर्व छठ के अवसर पर दर्जनों छठ घाटों पर भगवान सूर्य की प्रतिमा स्थापित कर पूजा अर्चना की गयी। छठ घाटों पर आकर्षक विद्युत सज्जा भव्य पंडाल एवम पूजा अर्चना देखने निकटवर्ती पश्चिम बंगाल से भी श्रद्धालु पहुंचे। जिला प्रशासन द्वारा  छठ घाटों की सुरक्षा के अलावे मेडिकल गोताखोर  की भी व्यवस्था की गयी थी। दूसरा अर्घ्य देने के बाद आस्था का महापर्व भक्तिपूर्ण माहौल में सम्पन्न हुआ।जिले के बाँसलोई त्रिपतिया नदियों के अलावे दर्जनों तालाबों  पर छठ पूजा  का आयोजन किया गया।कालीभासान टिन बंगला साधु  अखड़ी शिवशीतला मंदिर तांती पाड़ा  मालगोदाम तलवा डांगा आदि स्थानों पर स्थित तालाबों के छठ घाटों पर श्रद्धालुओं एवम छठ व्रतियों  की सबसे ज्यादा भीड़ उमड़ी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored