सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

शराब बरामदगी मामले में बक्सर विधायक मुन्ना तिवारी पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

- sponsored -

पटना/बक्सर। शराब बरामदगी मामले में बक्सर के कांग्रेस विधायक मुन्ना तिवारी पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है।  बुधवार को मुन्ना तिवारी के स्कॉर्पियो गाड़ी से उनके समर्थक और कार्यकर्ताओं के साथ शराब बरामद की गई थी। पुलिस ने कुल 7 लोगों पर एफआईआर दर्ज किया है। इस मामले में चार लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जबकि विधायक समेत तीन अन्य की गिरफ्तारी की जाएगी।

बक्सर विधायक मुन्ना तिवारी की स्कॉर्पियो गाड़ी बक्सर के सिमरी इलाके में शराब के साथ पकड़ी गई थी। गाड़ी में विधायक के चार समर्थक भी बैठे हुए थे, लेकिन शराब बरामदगी के बाद विधायक ने इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए साजिश की आशंका जताई थी। बुधवार की शाम इस पूरे घटनाक्रम के बाद मुन्ना तिवारी सफाई देते रहे। उन्होंने मामले की न्यायिक जांच कराने तक की मांग कर डाली। सूत्रों की माने तो विधायक मुन्ना तिवारी बक्सर से पटना तक खूब फोन घनघनाते रहे,  लेकिन बात नहीं बनी।  दरअसल मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शराबबंदी कानून की धज्जियां उड़ाने वाले माननीयों पर भी सख्त हैं। मुख्यमंत्री के सख्त निर्देश का ही असर है कि बक्सर विधायक का सारा मैनेजमेंट फेल हो गया और आखिरकार अब उनके ऊपर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। सरकार और पुलिस का मिजाज देखकर ऐसा लगता है कि बक्सर विधायक संजय तिवारी उर्फ मुन्ना तिवारी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। उनका सारा मैनेजमेंट फेल हो गया है और आने वाले दिनों में उन्हें बड़ी फजीहत झेलनी पड़ सकती है।

दरअसल बक्सर पुलिस ने जिस स्कॉर्पियो से शराब बरामद की, वह विधायक संजय तिवारी उर्फ मुन्ना तिवारी के नाम पर है। बिहार में शराबबंदी कानून के तहत जो नियम है, उसके मुताबिक शराब बरामद होने पर गाड़ी के मालिक के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाता है। इस मामले में फसाद बढ़ता देख बक्सर विधायक को यह उम्मीद थी कि पटना में बैठे उनके रहनुमा शायद सब कुछ मैनेज कर लेंगे, लेकिन उनका यह अंदाजा गलत निकला है।  बक्सर एसपी  ने कहा है कि शराब बरामदगी मामले में जिन 4 लोगों की गिरफ्तारी बुधवार को हुई थी, उनके अलावा विधायक मुन्ना तिवारी और दो शराब सप्लायर के खिलाफ भी मामला दर्ज किया गया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored