सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

श्रमिकों को लाने में नोडल अफसरों को लगाये सरकार, ट्रेनों की संख्या बढ़ाये केंद्र : चंद्रप्रकाश

- sponsored -

रांची : सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी ने प्रवासी श्रमिकों की दशा पर चिंता जाहिर की है। सड़क दुर्घटना में प्रवासी श्रमिकों की हुई मौत पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से प्रवासी मजदूर कष्ट उठाकर और जान जोखिम में डालकर राष्टÑीय राजमार्ग से चलकर झारखंड आ रहे हैं, इस क्रम में कई प्रवासी श्रमिक पैदल चलते-चलते काल के ग्रास बन रहे हंै। कई श्रमिकों की सड़क दुर्घटना में मौत भी हो गयी है।

प्रवासी श्रमिक परिवहन साधन नहीं मिलने की वजह से थक हारकर पैदल चलने को विवश हैं। इस परिस्थिति में ट्रेनों की संख्या बढ़ाया जाना जहां अति आवश्यक हो गया है, वहीं झारखंड सरकार को भी अपने नोडल अफसरों को बसों के साथ वहां भेजना चाहिए जहां से प्रवासी श्रमिक पैदल चल कर आ रहे हैं। मौजूदा समय में मानव एवं मानवता का ख्याल रखना प्रासंगिक व अपरिहार्य हो गया है।

उन्होंने ट्रेन की संख्या बढ़ाने को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल का ध्यान भी आकृष्ट कराया है। मंत्री को प्रेषित अपने पत्र में कहा है कि गिरिडीह संसदीय क्षेत्र के गिरिडीह, बोकारो एवं धनबाद जिले के विभिन्न प्रखंडों के 2 से 3 लाख प्रवासी श्रमिक देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे हुए हैं। वतर्मान में जो श्रमिक ट्रेन चलायी जा रही हंै उसमें प्रतिदिन मात्र 2 से 3 हजार प्रवासी मजदूर आ रहे हैं।

- Sponsored -

रेलवे द्वारा जो ट्रेन भुगतान के आधार पर चलाया जा रहा है उसमें भी मजदूरों के घर वापस में महीनों लग जायेंगे। अभी तक राज्य भर के 50 हजार लोग ही वापस आ सके हैं। लाखों लोग अभी भी राज्य के बाहर हैं। राज्य सरकार द्वारा भी श्रमिक स्पेशल ट्रेन बढ़ाने की मांग की जा रही है। ऐसे में राज्य से बाहर फंसे प्रवासी मजदूरों के घर वापसी के लिए पर्याप्त संख्या में राज्य को श्रमिक टेÑन उपलब्ध कराना आवश्यक हो गया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored