सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

हरीन्द्रानंद साहेब के आवास पर मकर संक्रांति उत्सव

- sponsored -

रांची : शिव शिष्य हरीन्द्रानंद साहेब के आवास पर बुधवार को मकर संक्रांति का उत्सव मनाया गया। इस उत्सव में बिहार और झारखंड के कई क्षेत्रों से आए शिव शिष्यों ने भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान शिव शिष्य हरीन्द्रानंद साहेब ने मकर संक्रांति का महत्व बताया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि दुनिया में जो भी शक्ति है वह शिव की शक्ति है। उसके धारक देवता अलग-अलग हैं लेकिन शक्तियां तो शिव की ही है।

हरीन्द्रानंद साहेब ने कहा कि प्रजन्न, उत्पादन की शक्ति ब्रह्माणी है और उनके धारक देवता ब्रह्मा हैं। उसी प्रकार पालन की देवी वैष्णवी है और उसके धारक देवता विष्णु हैं। साहेब ने कहा कि रुद्राणी विध्वंश की देवी है और उसके धारक देवता खुद शिव हैं। उन्होंने समझ को ज्ञान का पर्याय बताया और कहा कि जानकारी एक बार है उसे आप केवल जानकारी कह सकते हैं लेकिन ज्ञान दूसरी बात है। ज्ञान के लिए समझ जरूरी है। उन्होंने कहा कि यदि आप ज्ञान को समझ का पर्याय कहें तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

साहेब के निवास पर बुधवार को गुरुभाइयों का आना-जाना लगा रहा। निवास पर गुरुभाइयों ने सामूहिक रूप से दही-चूड़ा ग्रहण किए और तिलकुट खाकर मकर संक्रांति उत्सव मनाया। इस मौके पर शिव शिष्‍य हरिद्रा नंद फाउंडेशन के सलाहकार अर्चित आनंद ने कहा कि आगामी 19 जनवरी को साहेब के उपर लिखी गयी पुस्तक का लोर्कापण किया जाएगा। इस पुस्तक को शिव शिष्या अनुनीता ने लिखी है। इसके बाद 1 और 2 फरवरी को पटना में बड़ा कार्यक्रम है, फिर कोडरमा में 9 फरवरी को बड़ा धार्मिक समागम का कार्यक्रम है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored