सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच ने किया भ्रूण हत्या पर कार्यक्रम आयोजित

- sponsored -

अखिल भारतीय मारवाड़ी युवा मंच के स्थापना सप्ताह के तीसरे दिन के अवसर पर मारवाड़ी युवा मंच रांची दक्षिण एवं महिला जागृति शाखा के संयुक्त तत्वधान में डोरंडा कन्या पाठशाला में कन्या भ्रूण हत्या पर निबंध एवं स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य रूप से मंच के प्रांतीय उपाध्यक्ष रोहित शारदा उपस्थित हुए।

रोहित शारदा ने दी कन्या भ्रूण हत्या पर विस्तृत जानकारी

इस अवसर पर रोहित शारदा ने कन्या भ्रूण हत्या की विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि आज देश में महिलाओं का अनुपात कम होता जा रहा है। जोकि अपराध का भी एक प्रमुख कारण है। आज के युग में बेटे और बेटी में कोई फर्क नहीं है आज बेटियां चांद तक पहुंच चुकी है। इस अपराध को रोकने में आने वाले समय में आप देश के भविष्य हैं अपना योगदान दें। मारवाड़ी युवा मंच रांची दक्षिण के अध्यक्ष कृष्ण कुमार पिलानिया ने सभी से आग्रह किया कन्या भ्रूण हत्या के प्रति लोगों को जागरूक करें। महिला शाखा की अध्यक्ष उर्मिला मोटानी कहा कि बिना महिला के किसी भी परिवार को चलाना असंभव है। इस कार्यक्रम की संयोजिका संगीता शारदा ने कहा कि बेटी नहीं रहेगी तो बहू कहां से लाओगे आज समाज को यह सोचने की आवश्यकता है। स्कूल की शिक्षिका आरती झा, ज्योति वर्मा, एमलीन ज्योति टूटी ने भी इस विषय पर अपने विचार रखें।

- Sponsored -

मारवाड़ी युवा मंच के सचिव पियूष विजयवर्गीय ने किया कार्यक्रम का संचालन

कार्यक्रम में मंच का संचालन मंच के सचिव पीयूष विजयवर्गीय ने किया। और लोगों को भ्रूण हत्या के प्रति जागरुक किया। और कहा की भ्रूण हत्या से बड़ा पाप इस धरती पर कोई नहीं है। उन्होंने कहा बेटी लक्ष्मी का रुप होती है. और कही ना कही बेटी की हत्या कर हम उपने घर में आने वाली लक्ष्मी को भी अपने आंगन से दूर करते है। बता दे की धन्यवाद ज्ञापन मंच के संजय सुलतानिया ने किया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से मंच के प्रांतीय उपाध्यक्ष रोहित शारदा कन्या पाठशाला की प्रधानाचार्य काजल चटर्जी, मारवाड़ी युवा मंच रांची दक्षिण के अध्यक्ष कृष्ण कुमार पिलानिया, महिला जागृति शाखा की अध्यक्ष उर्मिला मोटानी, संगीता शारदा, पीयूष विजयवर्गीय संजय सुलतानिया,नीरू अग्रवाल, बिना शारदा, अनुपमा विजयवर्गीय, पूजा शारदा, विमल जैन साहित मंच के अन्य सदस्यों के साथ साथ स्कूल की शिक्षिकाएं उपस्थित थी।

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -