सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अमृता सिंह ने रूमानी अदाओं से दर्शकों को बनाया दीवाना

बॉलीवुड (Bollywood) में अमृता सिंह को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अस्सी और नब्बे के दशक में अपनी रूमानी अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

- sponsored -

मुंबईः- बॉलीवुड (Bollywood) में अमृता सिंह को एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अस्सी और नब्बे के दशक में अपनी रूमानी अदाओं से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। अमृता सिंह (Amrita Singh) का जन्म 9 फरवरी 1958 में हुआ। अमृता ने अपने करियर की शुरूआत वर्ष 1983 में प्रदर्शित फिल्म बेताब से की। धर्मेन्द्र निर्मित इस फिल्म में अमृता सिंह के अपोजिट सन्नी देओल थे जो उनकी भी पहली फिल्म थी। सन्नी देओल और अमृता सिंह की जोड़ी को दर्शकों ने बेहद पसंद किया और फिल्म टिकट खिड़की पर सुपरहिट साबित हुई।

वर्ष 1984 में एक बार फिर से सन्नी देओल के साथ फिल्म सन्नी में काम करने का अवसर मिला। इस फिल्म को टिकट खिड़की पर औसत सफलता मिली। वर्ष 1985 में अमृता ने अनिल कपूर के साथ साहेब में काम किया। इस फिल्म में अमृता सिंह और अनिल कपूर पर फिल्माया यह गीत “यार बिना चैन कहां रे” आज भी श्रोताओं के बीच काफी लोकप्रिय है। वर्ष 1985 में प्रदर्शित फिल्म मर्द अमृता सिंह के करियर के लिये एक सुपरहिट फिल्म साबित हुई। मनमोहन देसाई के निर्देशन में बनी इस को सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के साथ काम करने का अवसर मिला। अमिताभ और अमृता सिंह की जोड़ी को दर्शकों ने बेहद पसंद किया।

वर्ष 1986 में नाम और चमेली की शादी जैसी सुपरहिट फिल्में प्रदर्शित हुई। फिल्म नाम में जहां उन्होंने संजीदा किरदार निभाया था वहीं चमेली की शादी में उन्होंने कॉमिक किरदार निभाकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। वर्ष 1989 में अमृता को अमिताभ बच्चन के साथ तूफान और जादूगर जैसी फिल्मों मे काम करने का अवसर मिला लेकिन दुर्भाग्य से दोनों ही फिल्मे टिकट खिड़की पर कोई खास कमाल नहीं दिखा सकी।

- Sponsored -

वर्ष 1993 में प्रदर्शित फिल्म आइना अमृता सिंह के करियर की उल्लेखनीय फिल्मों मे शामिल है। इस फिल्म में उनका किरदार कुछ हद तक ग्रे शेड्स लिये हुये था बावजूद वह दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने में सफल रही। इस फिल्म के लिये उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया। वर्ष 1991 में अमृता सिंह ने सैफ अली खान से शादी कर ली हालांकि यह शादी अधिक दिन तक कामयाब नहीं रही। वर्ष 2004 में अमृता और सैफ की राहे जुदा हो गयी। वर्ष 1993 में प्रदर्शित फिल्म रंग के बाद फिल्म इंडस्ट्री से किनारा कर लिया।

वर्ष 2002 में प्रदर्शित फिल्म 23 मार्च 1931 शहीद के जरिये अमृता ने एक बार फिर से बॉलीवुड में अपनी वापसी की। वह इन दिनों चरित्र अभिनेत्री के तौर पर काम कर रही है। वर्ष 2013 में प्रदर्शित फिल्म औरंगजेब में नेगेटिव किरदार निभाया था। इसके बाद वर्ष 2014 में प्रदर्शित सुपरहिट फिल्म-2 स्टेटस, द फ्लाइंग जट, हिंदी मीडियम और वर्ष 2019 में अमृता सिंह ने सुपरहिट फिल्म बदला में काम किया है।

ये भी पढ़ेंः- नई नवेली हीरोइनों का जलवा, देखिए तस्वीरें

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored