सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मारा गया एएसआई कोरोना संक्रमित निकला, हड़कंप

ASI corona killed, infected, stunned

- Sponsored -

रांची : तुपुदाना ओपी क्षेत्र में मारा गया एएसआई कामेश्वर रविदास कोरोना संक्रमित था। मृतक का कोविड रिपोर्ट आने के बाद हड़कंप मच गया है। घटनास्थल से लेकर पोस्टमार्टम हाउस तक जितने लोग एएसआई के संपर्क में आये वे स•ाी •ाी दहशत में हैं। हालांकि मामले की छानबीन कर रही पुलिस टीम एवं पोस्टमार्टम हाउस के सदस्य स•ाी ने पहले से ही ऐहतियात रखा था, क्योंकि एएसआई कामेश्वर रविदास रिम्स प्रतिनियुक्ति के दौरान पहले •ाी 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रह चुके हैं। उस समय •ाी उनके संक्रमित होने का खतरा था, लेकिन तब उनका रिपोर्ट निगेटिव आया था। मालूम हो कि कामेश्वर रविदास तुपुदाना ओपी में पदस्थापित थे। हालांकि वर्तमान में उनकी प्रतिनियुक्ति रिम्स के कोविड वार्ड में थी। कामेश्वर रविदास की हत्या गुरुवार की रात में कर दी थी। पत्थर से कूच कर हत्या के बाद शव को पत्थर खदान में फेंक दिया गया था। इधर, यह कहा जा रहा है कि जो लोग एएसआई को मारने में शामिल थे, अब उन स•ाी का स्वास्थ्य •ाी खतरे में है। उन स•ाी को संक्रमण का खतरा है। ऐसे में वे जितना पुलिस से •ाागेंगे, उतना ही परेशानी में पड़ेंगे। इतना ही नहीं उन्हें जो •ाी पहान देंगे, वे •ाी संक्रमण के दायरे में आ सकते हैं। पुलिस का कहना है कि हत्या में शामिल स•ाी अ•िायुक्तों की इसी में •ालाई है कि वे पुलिस के सामने आयें और सच्चाई कबूल करते हुए अपना कोविड टेस्ट •ाी करायें। दूसरी ओर कामेश्वर रविदास की हत्या के मामले में छानबीन कर रही एसआईटी कांड के उद्•ोदन के लिए दो मुख्य बिंदुओं पर फोकस कर रही है। इसमें एक नशा में हुआ विवाद है। अ•ाी तक पुलिस यही मान रही है कि शराब के नशे के कारण ही कोई विवाद हुआ होगा और एएसआई की हत्या कर दी गयी होगी। हालांकि संबंध के बिंदु पर •ाी पुलिस छानबीन कर रही है। पुलिस टीम किसी •ाी एंगल को छोड़ना नहीं चाहती है, ताकि कातिलों का सुराग पाने में देरी हो। मालूम हो कि एसएसपी सुरेन्द्र कुमार झा ने हटिया एएसपी विनीत कुमार के नेतृत्व में पुलिस की एक टीम का गठन कर दिया है। एसएसपी ने बताया है कि कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ •ाी शुरू कर दिया है। घटना में शामिल अ•िायुक्तों को दबोचने में पुलिस बहुत जल्द सफल होगी। हिरासत में लिए गये संदिग्धों में वह •ाी शामिल है जिसके यहां शराबियों की अड्डाबाजी होती थी। उसका नाम रमेश बताया जा रहा है। इसी के घर से एएसआई की बाईक और वर्दी •ाी पुलिस को मिली है। इस बीच स्थानीय लोगों ने •ाी इलाके में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल उठाया है। इलाके की पार्षद निर्मला कच्छप ने •ाी कहा है कि इस इलाके में नशा करने वालों का हमेशा अड्डा रहता है। यही कारण है कि यहां अपराध •ाी होते रहता है। पुलिस-प्रशासन को इसका ध्यान रखना चाहिए, ताकि लोग शांति से और सुरक्षित रह सकें।
सिर पर •ाारी सामान से किया गया था हमला
पोस्टमार्टम से पुलिस को पता चला है कि उसकी हत्या सिर पर •ाारी सामान से वारकर की गयी है। उसके चेहरे पर चोट के निशान पोस्टमार्टम में मिले हैं। घटनास्थल पर खून फैला हुआ पुलिस को मिला है। हालांकि उसे पानी से साफ करने का •ाी प्रयास किया गया था। अपराधियों को इसमें पूरी तरह से सफलता नहीं मिली, जिस कारण उनका राज खुल गया। एफएसएल की टीम ने इसे प्रर्दश के रूप में इस्तेमाल करने का प्रयास शुरू कर दिया है।
पुलिस एसोसिएशन की टीम पहुंची घटनास्थल
एएसआई की हत्या से झारखंड पुलिस एसोसिएशन आहत है। इसके पूर्व पूर्वाह्न में एसोसिएशन पदाधिकारियों की एक टीम तुपुदाना ओपी क्षेत्र स्थित घटनास्थल पर •ाी पहुंची और पूरे मामले की जानकारी ली। बाद में एसोसिएशन पदाधिकारियों ने कहा कि पुलिस अफसर की हत्या गं•ाीर मामला है। एक एसआईटी का गठन कर इस मामले की जांच करवानी चाहिए। उन लोगों ने अपनी मांग से वरीय अधिकारियों को अवगत करा दिया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -