सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव से मिले सहायक पुलिस प्रतिनिधि, कहा सहायक पुलिसकर्मियों से लिये जा रहे जिला बल जैसे कार्य

- Sponsored -

लोहरदगा: लोहरदगा जिला के सहायक पुलिस की प्रतिनिधि मंडल ने विधायक सह झारखंड के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव से मुलाकात कर मांगों से संबंधित ज्ञापन सौंपा। जिसमें कहा गया है कि जिले में सहायक पुलिस से लाठी बल का सभी कार्य लिए जाते हैं। वर्ष 2017 में सहायक पुलिस की बहाली ली गयी थी। जिसमें अपने क्षेत्र में रह कर कार्य करने की बात कह कर भर्ती कराया गया। लेकिन भर्ती के बाद सभी सहायक पुलिसकर्मी से जिला बल के जैसे कार्य लिये जा रहे हैं। कहा गया है कि लोहरदगा जिले के 50 सहायक पुलिसकर्मियों को वर्ष 2018 जनवरी से रांची जिले के विभिन्न क्षेत्रों में ड्यूटी लगाई जा रही है।साथ ही साथ सभी सहायक पुलिस की वीआईपी, ट्रैफिक, कोरोना महामारी, इलेक्शन और कंट्रोल रूम में ड्यूटी भी ली जा रही है। जिला बल के समान कार्य लेने के बाद भी मानदेय मात्र 10000 रूपए ही दी जाती हैं, जो न्यायोचित नहीं है। अतिरक्त किसी प्रकार की अन्य भाता नहीं दी जाती हैं। सभी सहायक पुलिस अपने भविष्य को देखते हुए मंत्री जी से गुहार लगाते हुए सम्मानजनक भत्ता, 3 वर्ष पूर्ण होते ही स्थायीकरण, कार्य विस्थारण सहित अन्य मांग रखी। उन्होंने मंत्री श्री उरांव से कहा कि सभी सहायक पुलिस युवा वर्ग के हैं। सरकार को इनके भविस्य को देखते हुए उचित निर्णय लिया जाए। मंत्री डॉ उरांव ने उनकी मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार कर मुख्यमंत्री के समक्ष मामले को रखने का भरोसा दिलायी। प्रतिनिधि मंडल में आकाश साहु, विनय तिर्की, आशा लकड़ा, लक्ष्मी कुमारी, संगीता देवी, राजकुमार महतो, संदीप राम आदि शामिल थे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored