Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
BREAKING NEWS


{"effect":"slide-h","fontstyle":"bold","autoplay":"true","timer":"4000"}

Looks like you have blocked notifications!

बाढ़ में गरीबों और असहायों को बांटा गया कंबल

राजधानी पटना के जलजमाव पीड़ितों के सेवा में जिस तरह पप्पू यादव लगातार सुर्खियों में रहे, उसी तरह भीषण ठंड में सेवा भावना से ओतप्रोत बाढ़ में बिहारी बीघा पंचायत के पूर्व मुखिया पंकज कुमार लगातार सुर्खियों में है। जरूरतमंदों के बीच कंबल बांट रहे हैं। आये दिन देखा जा रहा है कि बाढ़ अनुमंडल के किसी न किसी गांव में लगातार कंबल का वितरण हो रहा है। जिसका सारा श्रेय जाता है बिहारी बीघा के पूर्व मुखिया पंकज कुमार का।

5

- Sponsored -

- sponsored -

पटनाः- राजधानी पटना के जलजमाव पीड़ितों के सेवा में जिस तरह पप्पू यादव लगातार सुर्खियों में रहे, उसी तरह भीषण ठंड में सेवा भावना से ओतप्रोत बाढ़ में बिहारी बीघा पंचायत के पूर्व मुखिया पंकज कुमार लगातार सुर्खियों में है। जरूरतमंदों के बीच कंबल बांट रहे हैं। आये दिन देखा जा रहा है कि बाढ़ अनुमंडल के किसी न किसी गांव में लगातार कंबल का वितरण हो रहा है। जिसका सारा श्रेय जाता है बिहारी बीघा के पूर्व मुखिया पंकज कुमार का।

- Sponsored -

- sponsored -

विदित हो कि अब तक पंकज कुमार के द्वारा विभिन्न प्रखंडों के कई गांवों में जरूरतमंदों के बीच कंबल का वितरण किया जा चुका है। जबकि इतनी भीषण ठंड में भी बिहार सरकार या बाढ़ प्रशासन द्वारा कहीं भी कंबल का वितरण नहीं किया गया है। कंबल बांटना तो दूर की कौड़ी है। अलाव जलाने के लिए किरासन तेल भी उपलब्ध नहीं कराया गया है। ऐसे में सोचने वाली बात यह है कि यदि इस “सर्दी के मसीहा” द्वारा जरूरतमंदों के बीच कंबल नहीं पहुंचाई जाती तो, आज उनका क्या होता? जो इनके द्वारा वितरित कंबल ओढ़ कर सुकून के साथ भीषण सर्दी की रातें काट रहे हैं।

बीते कल भी पंकज मुखिया द्वारा बाढ़ प्रखंड के लाला बागी हनुमानगढ़ मंदिर के प्रांगण में कंबल वितरण शिविर का आयोजन किया गया। यहां कंबल वितरण समारोह की शुरुआत बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर किया गया। इस अवसर पर साढ़े तीन सौ जरूरतमंदों के बीच कंबल का वितरण किया गया! इस समारोह में शहर के कई गणमान्य लोग उपस्थित थे! जिन्हें अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया! बाढ़ अनुमंडल में पहली बार किसी व्यक्ति ने इतनी संख्या में जरूरतमंदों के बीच कंबल बांटकर सर्दी की रात से सुकून दिलाने का काम किया है! शायद इसीलिए पंकज मुखिया को लोग “सर्दी का मसीहा” मान बैठे हैं।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -