Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
BREAKING NEWS


{"effect":"slide-h","fontstyle":"bold","autoplay":"true","timer":"4000"}

Looks like you have blocked notifications!

26 जनवरी को लेकर मार्केट में धड़ल्ले से तैयार हो रहा घटिया लड्डू

गणतंत्र दिवस के मौके पर घटिया लड्डू बनाने का कारोबार तेजी से चल रहा है। जानकार बताते हैं कि लड्डू अत्यंत घटिया एवं गुणवत्ता विहिन होता है। फिर भी क्षेत्र के कारोबारी कई क्विंटल तक लड्डू तैयार कर उसे लोगों तक पहुंचाते हैं।

4

- Sponsored -

- sponsored -

कैमूर:- जिले में गणतंत्र दिवस के मौके पर घटिया लड्डू बनाने का कारोबार तेजी से चल रहा है। जानकार बताते हैं कि लड्डू अत्यंत घटिया एवं गुणवत्ता विहिन होता है। फिर भी क्षेत्र के कारोबारी कई क्विंटल तक लड्डू तैयार कर उसे लोगों तक पहुंचाते हैं। इसकी ज्यादातर खपत 26 जनवरी एवं 15 अगस्त जैसे त्योहारों पर होती हैं। यह कारोबार चैनपुर प्रखंड क्षेत्र के बढ़ौना, मोहम्मदपुर सहित कई जगहों पर बड़े पैमाने में लड्डू तैयार होता हैं। जो क्षेत्र के विभिन्न निजी एवं सरकारी विद्यालयों में लड्डू की सप्लाई की जाती हैं।

- Sponsored -

- sponsored -

कारोबारियों के मुताबिक एक लड्डू की लागत कीमत ढाई से ₹3 होती है,पर सस्ता होने की वजह से विद्यालय में इसकी खपत ज्यादा है। मजे की बात यह है कि सरकार की ओर से गुणवत्ता जांच के लिए समय-समय पर अभियान चलाया जाता है। परंतु खाद्य विभाग द्वारा स्थानीय प्रखंड में किसी भी तरह की गुणवत्ता की जांच नहीं होने से ऐसे कारोबारियों के हौसले बुलंदी पर हैं। यहां के प्रबुद्ध नागरिकों एवं अभिभावकों ने इस दिशा में प्रशासन से पहल करने की मांग की है। बताया जाता है कि घटिया लड्डू के कारण बच्चों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है। हाटा के मिठाई कारीगर ने नाम न छापने के शर्त्त पर बताया कि चावल, मैदा ,बेसन को मिक्स करके बुंदिया को सस्ते रिफाइन में तैयार किए जाते है। हर किसी को सस्ता चाहिए अच्छा चाहिए।

इसी तर्ज पर लड्डू तैयार किए जाते हैं । जो देखने में सुंदर भी लगते हैं और सस्ते भी पड़ते हैं ।अगर दो दिन के बाद इस लड्डू को खाया जाता है, तो इस लड्डू में सफेद दाग उग आता हैं, जो शरीर को काफी नुकसान भी पहुंचाता है। उन्होंने कहा कि बुदीया बाहर से रेडीमेड भी आता है, जिसकी क्वालिटी अच्छी नहीं होती। इस संबंध में पूछे जाने पर अनुमंडल पदाधिकारी भभुआ जन्मेजय शुक्ला ने कहा कि दशहरा और दीपावली जैसे त्योहारों पर मिठाइयों की जांच खाद आपूर्ति पदाधिकारी से कराई जाती है ।अगर इस तरह का कोई लिखित आवेदन अगर मिलता है तो इसकी जांच कराते हुए कार्रवाई की जाएगी।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -