Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वार्मिंग के कारण भयंकर संक्रमणः डॉक्टर

क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वार्मिंग की चेतावनी का मतलब ही था कि इंसानी जीवन और धरती के समस्त जीवों पर भीषण संकट के आसार। प्रकृति अपने साथ ज्यादती का बदला किसी न किसी रूप में लेती है।

64

सुशील कुमार की रिपोर्ट

भागलपुरः- क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वार्मिंग की चेतावनी का मतलब ही था कि इंसानी जीवन और धरती के समस्त जीवों पर भीषण संकट के आसार। प्रकृति अपने साथ ज्यादती का बदला किसी न किसी रूप में लेती है। मौजूदा दौर में देखें तो कोरोना वायरस का असर ज्यादातर शहरी आबादी के बीच ज्यादा है वनिस्पत ग्रामीण आबादी के। विकसित देशों में ज्यादा तबाही के कई मायने निकलेंगे।

- Sponsored -

- sponsored -

इस बीच एक बड़ी ख़बर निकल कर आई है कि कोरोना प्रभावित इलाके की गर्भवती महिलाओं के गर्भ में पल रहा बच्चा पूर्ण रूपेण सुरक्षित रहा। प्रभावित देशों के मेडिकल जरनल में उक्त बातों का जिक्र है। भागलपुर के प्रसिद्ध स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर इमराना ने बताया कि गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहा शिशु कई झिल्ली के अंदर होता है। अगर गर्भवती महिला को कोरोना का संक्रमण हो तो उस दशा में कई हफ्तों तक आइसोलेट कर जच्चा और बच्चा को बचाया जा सकता है। सर्जन डॉ रहमान बताते हैं कि कृत्रिम वातावरण में चंद लोगों की जीने की आदत ने हिंदुस्तान की सेहत को बिगाड़ दिया है। अपील है कि प्यारी धरती को बचाइए।

ये भी पढ़ेंः- स्वास्थ्य विभाग की बड़ी लापरवाही आई सामने, एक किशोरी की मौत के बाद हंगामा

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -

%d bloggers like this: