Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

मोहब्बत के सामने झुका परिवार, युगल प्रेमी की दहेज मुक्त हुई शादी

जिले के रामगढ़ धर्मशाला दुर्गा मंदिर में दो प्रेमी जोड़े की शादी वुधवार को रात्रि प्रबुद्ध जनों की देखरेख में रचाई गई। यह शादी दुर्गा मंदिर में मां दुर्गे को साक्षी मानकर कराई गई। वर-वधू दोनों पक्ष के सहमति से शादी दहेज मुक्त हुआ।

21

कैमूर:- जिले के रामगढ़ धर्मशाला दुर्गा मंदिर में दो प्रेमी जोड़े की शादी वुधवार को रात्रि प्रबुद्ध जनों की देखरेख में रचाई गई। यह शादी दुर्गा मंदिर में मां दुर्गे को साक्षी मानकर कराई गई। वर-वधू दोनों पक्ष के सहमति से शादी दहेज मुक्त हुआ। यह शादी लोगों के बीच चर्चा की विषय बना हुआ है। इस बेमिसाल शादी की खबर प्रबुद्धजनों को जैसे ही पता चला कि प्रेमी जोड़ी को आशीर्वाद देने के लिए वहां हुजूम उमड़ पड़ी। जहां लोगों ने अपनी इच्छा अनुसार प्रेमी जोड़ी को उपहार भी भेंट किया।

बताते हैं कि दोनों प्रेमी जोड़ी का प्रेम प्रसंग पिछले तीन वर्षों से चला आ रहा था। दोनों प्रेमी जोड़े के अटूट प्रेम इस कदर परवान चढ़ा कि दोनों पक्ष का गार्जियन अंततः शादी को राजी हो गए। शादी से पहले दोनों पक्ष के गार्जियन में थोड़ा कसक रहा। मगर समाज और लोक लाज को देखते हुए इसे रिश्ते में बदलना पड़ा। फिर क्या था चट सहमति पट विवाह वाला कहावत चरितार्थ हुई और दोनों पक्ष के परिजन खुशी-राजी से शादी में भाग लिया। जहां से लड़के पक्ष के परिजन शादी के रस्म को पूरा कर बहू को अपने साथ ले गए। शादी में लड़की की तरफ से उसकी बड़ी बहन एवं उनके पति सहित सभी परिवार शामिल हुआ।

वहीं रामगढ़ के छेवरी गांव के पारस खरवार का पुत्र कमलेश कुमार के साथ दुमदूमा के मरदा खरवार की पुत्री नीतू कुमारी से आंखें चार हो गई थी। प्रेमी जोड़ी मां दुर्गे को साक्षी मानकर सात फेरे लिए और जन्म- जन्म तक एक दूसरे का साथ निभाने का संकल्प लिया। लड़की और लड़के पक्ष के परिजनों ने कहा कि इस शादी से सभी लोग सहमत है। यह शादी बिना दहेज की हुई है। यह शादी समाज में एक अलग प्रेरणा देगी।

- Sponsored -

- sponsored -

इस मौके पर पूजा समिति के अध्यक्ष रामनिवास गुप्ता, पवन गुप्ता ,मोहम्मद अशरफ, अंजनी गुप्ता, अभिमन्यु गुप्ता ,राजेश कुमार ,अभिषेक राज ,आदि लोग शामिल थे। हालांकि शादी को लेकर लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही है। इस संबंध में कुछ लोगों का कहना था कि आजकल के नवयुवक अनुचित दिशा से भटक रहे हैं और अपने गार्जियन का मान सम्मान नहीं रख पा रहे हैं। जिससे समाज में गलत संदेश जा रहा है। वहीं दूसरी ओर ऐसे शादी को अधिकांश लोगों ने काफी सराहा।

ये भी पढ़ेंः- सशस्त्र सीमा बल ने गरीब जरूरतमंदों के बीच बांटा कंबल

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -

%d bloggers like this: