सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

स्वाद में लाजवाब #शाकाहारी मटन #रुगड़ा

Excellent vegetarian mutton taste

- Sponsored -

रांची :  झारखंड की पारंपरिक डिशेश में से एक है रुगड़ा या पूटू. यह दिखने में मशरुम जैसा लगता है और आमतौर पर वहां के लोग इसे शाकाहारी मटन भी कहते हैं. झारखंड में यह बारिश के मौसम में पाया जाता है. यह स्वाद में बिल्कुल नॉन वेज जैसा होता है. इन दिनों झारखंड में रूगड़ा हॉट डिमांड में है. यह रुगड़ा हर स्वाद को फेल कर दे. रूगड़ा अभी से पूरे चार महीनों तक बाजार की रौनक बना रहेगा.

रूगड़ा क्या है ?

रुगड़ा दरअसल एक तरह का मशरुम है जिसे पुटो, फुटकल आदि भी कहते हैं. मटन जैसे स्वाद के कारण वेज मटन भी कहा जाता है. मशरूम की प्रजाति होने के बावजूद अंतर यह है कि यह जमीन के अंदर आलू की तरह होता है. जबकि मशरुम की ज्यादातर प्रजातियां जमीन के ऊपर होती हैं.

- Sponsored -

सावन के महीने में ज्यादा होती है बिक्री

रुगड़ा का ज़ायका इतना लज़ीज होता है कि ये चिकेन और मटन के स्वाद को भी पीछे छोड़ देता है. इसलिये सावन के महीने में जब ज्यादातर लोग नॉनवेज नहीं खाते, इसकी बिक्री बड़े पैमाने पर होती है.

बारिश शुरू होने पर ही जंगल में रूगड़ा उगते हैं

रूगड़ा की कीमत अभी तो बाजार में 600 रुपये किलो है लेकिन धीरे-धीरे इसकी कीमत में गिरावट भी होता है. बाद में इसकी कीमत 150 से 200 रुपये भी हो जाता है. झारखंड के लोगों के बीच खासा पंसद किए जाने वाले रूगड़ा की उपज जितनी अलग है उतना ही इसे धरती के निचे से निकालना और संग्रह करने की प्रक्रिया उतनी जटिल है. शहर में रुगड़ा बेचने आने वाली ग्रामीण महिलाएं बताती हैं कि आमतौर पर बारिश शुरू होने पर ही जंगल में रूगड़ा उगते हैं. आकाशीय बिजली से धरती के नीचे इसकी उपज होती है.

ग्रामीण जंगल से रुगड़ा निकालते हैं

रुगड़ा बेचने वाली महिलाओं का कहना कि रुगड़ा को केवल वैसे ही लोग जंगल में ढूंढ सकते हैं जिनको इसकी अच्छी जानकारी हो. ग्रामीण जंगल से रुगड़ा निकालते हैं. वहां सांपों का प्रकोप भी अधिक होता है. ज्यादातर इसकी पैदावार सखुआ के बगान के आस पास ही होती है. रुगड़ा के बारे में लोगों का कहना है कि प्रोटिन से भरे रुगड़ा का स्वाद बेहद ही अच्छा होने के कारण इसकी चाहत यहां के लोगों का साथ साथ बाहरी लोगों में भी बढ़ी है. तभी तो बाहर से भी लोग खासतौर पर रांची के बाजारों से रूगड़ा ले जाते हैं.

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored