सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

धांधली के आरोप में उत्पाद इंस्पेक्टर गिरफ्तार, अधीक्षक फरार

पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने प्रेस वार्ता कर बहुत बड़ा खुलासा किया। उन्होंने वार्ता के दौरान बताया कि सहरसा के उत्पाद अधीक्षक असरफ जमाल सहित तीन लोगों के खिलाफ सहरसा सदर थाना में कांड संख्या 39/ 20 दर्ज किया गया। जबकि इस कांड में संलिप्त उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर फैयाज अहमद और  स0अ0नि वीरेंद्र कुमार पाठक को देर रात ग्रिफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

- Sponsored -

राजीब झा, संवाददाता

सहरसाः- जिले के पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने प्रेस वार्ता कर बहुत बड़ा खुलासा किया। उन्होंने वार्ता के दौरान बताया कि सहरसा के उत्पाद अधीक्षक असरफ जमाल सहित तीन लोगों के खिलाफ सहरसा सदर थाना में कांड संख्या 39/ 20 दर्ज किया गया। जबकि इस कांड में संलिप्त उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर फैयाज अहमद और  स0अ0नि वीरेंद्र कुमार पाठक को देर रात ग्रिफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

क्या था मामला

- Sponsored -

वर्ष 2019 के अक्टूबर माह में उत्पाद विभाग ने भाड़ी मात्रा में एक ट्रक अवैध शराब बरामद किया था। बरामद शराब को लेकर उत्पाद विभाग ने एक प्राथमिकी दर्ज किया और केश का जांचकर्ता स0अ0नि0 वीरेंद्र कुमार को बनाया। जिस दिन शराब की बरामदगी हुई उस दिन उत्पाद विभाग ने मीडिया से रूबरू होकर अपना प्रेस वार्ता किया और मीडिया को कुछ और बातें कहीं लेकिन केश के जांचकर्ता ने कुछ और रिपोर्ट समर्पित किया। यहीं नही इस केश में जिस युवक को हिरासत में लिया उसको चार दिनों के बाद कोर्ट को समर्पित करना चाहा लेकिन कोर्ट ने उसे लेने से इंकार कर दिया।

एसपी के नेतृत्व हुई खुलासा

इस घटना के बारे में जब जिला के पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार को जानकारी मिली तो उनके नेतृत्व में अनुसंधान जारी हुआ। अनुशंधान के क्रम में पता चला कि जिस जगह शराब की बरामदगी हुई वह जमीन किसी और का था लेकिन केश में शिकार कोई और हो रहा था। दूसरी तरफ जब उत्पाद विभाग ने मीडिया को प्रेस वार्ता किया था उस समय ट्रक का नंबर कुछ और दिया जबकि अनुशंधान में कोई अन्य गाड़ी का नंबर उपलब्ध करवा दिया।

हालांकि इस संबंध में पूछे जाने पर उत्पाद अधीक्षक असरफ जमाल ने बताया था कि नंबर हिन्दी में होने के कारण कुछ पता नही चला। इसी तरह कुछ अन्य जानकारी आने के बाद पुलिस अधीक्षक महोदय के दिशा निर्देश पर इन अवैध करोबारियों को सहयोग करने के कारण इन लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी। वैसे इतनी बड़ी कार्रवाई होने के बाद आम लोग पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार के सराहनीय कार्य की जम कर तारीफ कर रहे हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored