सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ दिनेश उरांव ने किया नई शिक्षा नीति का स्वागत

Former Assembly Speaker Dr. Dinesh Oraon welcomed the new education policy

- sponsored -

राँची। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ दिनेश उरांव ने नई शिक्षा नीति का स्वागत किया है । उन्होंने कहा कि 34 वर्ष बाद नई शिक्षा नीति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने जन आकांक्षाओं के अनुरूप राष्ट्रीय शिक्षा नीति लाई है। उन्होंने कहा कि 5+ 3 +3+4 के मजबूत शैक्षणिक जांच से प्रत्येक बच्चों को प्रारंभिक काल में ही आधारभूत संरचना मिलेगी। छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा। उच्च शिक्षा के विद्यार्थियों को विषय चयन या परिवर्तन की सुविधा से प्रतिभा को उड़ान मिलेगा । नई शिक्षा नीति में व्यापक बदलाव समय की मांग थी। पांचवीं कक्षा तक क्षेत्रीय भाषाओं के माध्यम से पढ़ाई से अच्छी शिक्षा सुनिश्चित हो सकेगी। छठी कक्षा के बाद से तकनीकी शिक्षा की शुभारंभ छात्रों का भविष्य तय करेगा। भविष्य की जरूरत के हिसाब से पाठ्यक्रम को लचीला बनाया गया है। यह शिक्षा नीति एक भारत श्रेष्ठ भारत का ढांचा तैयार करेगा। यह नीति देश की दशा दिशा बदलने वाली नीति है। उच्च शिक्षा में स्कॉलरशिप के लिए नई शिक्षा नीति में प्रस्ताव है । इसके लिए नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल के दायरे को और अधिक व्यापक बनाने की बात है। यह एक अच्छा संकेत है। आज की व्यवस्था में अगर चार साल इंजीनियरंग पढ़ने या 6 सेमेस्टर पढ़ने के बाद किसी कारणवश आगे नहीं पढ़ पाते हैं तो कोई उपाय नहीं होता, लेकिन मल्टीपल एंट्री और एग्जिट सिस्टम में 1 साल के बाद सर्टिफिकेट, 2 साल के बाद डिप्लोमा और 3 या 4 साल के बाद डिग्री मिल जाएगी। यह छात्रों के लिए बेहद ही अच्छा होगा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored