सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

जसप्रीत बुमराह को मिला पॉली उमरीगर अवॉर्ड

- Sponsored -

मुंबई –  भारत की तेज गेंदबाजी सनसनी जसप्रीत बुमराह को रविवार को बीसीसीआई वार्षिक पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर (2018-19) के लिए प्रतिष्ठित पॉली उमरीगर अवार्ड से सम्मानित किया गया जबकि महिला वर्ग में सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर का अवार्ड पूनम यादव को दिया गया।

पूर्व भारतीय कप्तानों कृष्णामाचारी श्रीकांत और अंजुम चोपड़ा को क्रमशः कर्नल सीके नायुडू लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड और बीसीसीआई लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड फॉर वुमैन से नवाजा गया। टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और मध्य क्रम के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को भी समारोह में नवाजा गया। 15 साल की युवा बल्लेबाज शेफाली वर्मा को दो अवार्ड दिए गए।

विश्व के नंबर एक एकदिवसीय गेंदबाज बुमराह ने अपना टेस्ट पदार्पण भारत के जनवरी 2018 में दक्षिण अफ्रीका के दौरे में किया था और उन्होंने उसके बाद से पीछे मुड़कर नहीं देखा। बुमराह ने दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और वेस्ट इंडीज में एक पारी में पांच-पांच विकेट हासिल किये और यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले और एकमात्र एशियाई गेंदबाज बने। उन्होंने भारत को ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज 2-1 से जीतने तथा बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी बरकरार रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।

- Sponsored -

ये भी पढें – रणजी ट्रॉफी: पदार्पण मैच में अतुल का अर्धशतक, मणिपुर के खिलाफ बिहार मजबूत

बुमराह को जहां पुरुष वर्ग में शीर्ष पुरस्कार मिला वहीं पूनम यादव को महिला वर्ग में सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर का पुरस्कार दिया गया। लेग स्पिनर पूनम को पिछले साल अर्जुन पुरस्कार मिला था और अब उन्हें सर्वश्रेष्ठ महिला क्रिकेटर के पुरस्कार से नवाजा गया। बुमराह को साल 2018-19 में किए गए शानदार प्रदर्शन के लिए प्रतिष्ठित पॉली उमरीगर अवॉर्ड के साथ-साथ 2018-19 में टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के लिए दिलीप सरदेसाई अवॉर्ड भी मिला। बुमराह ने अपने करियर में टेस्ट में 62 और वनडे में 103 विकेट चटकाए हैं।

समारोह में टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और मध्य क्रम के बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को भी अवार्ड से नवाजा गया। पुजारा को साल 2018-19 में टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने के लिए दिलीप सरदेसाई अवॉर्ड दिया गया। उन्होंने इस दौरान आठ टेस्ट मैच में 52।07 के औसत से 677 रन बनाए थे। मयंक पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दोहरा शतक जमाकर सुर्खियों में आए थे। उन्हें सर्वश्रेष्ठ अंतर्राष्ट्रीय पदार्पण अवॉर्ड से नवाजा गया।

भारत के पूर्व कप्तान कृष्णामाचारी श्रीकांत और अंजुम चोपड़ा को क्रमशः कर्नल सीके नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड और महिलाओं में बीसीसीआई लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड प्रदान किया गया।1983 की विश्व कप विजेता टीम के सदस्य श्रीकांत ने 43 टेस्ट मैच खेले, जिसमें उन्होंने दो शतक और 12 अर्धशतकों की मदद से 2062 रन बनाए। 1983 विश्व कप के फाइनल में वेस्टइंडीज के खिलाफ उन्होंने सर्वाधिक 38 रन बनाए थे। श्रीकांत की बेख़ौफ़ बल्लेबाजी ने उन्हें स्टार बनाया था।

श्रीकांत को 1989 में पाकिस्तान दौरे के लिए कप्तान नियुक्त किया गया। यह वही सीरीज थी, जिसमें सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया और भारतीय क्रिकेट को उसका बेमिसाल कोहिनूर मिला था। यह सीरीज ड्रॉ रही थी लेकिन इसके बाद उन्हें कप्तानी से हटा दिया गया था। उन्होंने 1992 विश्व कप के बाद संन्यास ले लिया था। श्रीकांत 2009 से 2012 तक राष्ट्रीय चयन समिति के अध्यक्ष भी रहे।

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -