सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

Jharkhand : मंत्रिपद को लेकर कांग्रेस व झामुमो में रस्साकशी

- sponsored -

रांची/नई दिल्ली : नवनिवार्चित सरकार के मुखिया झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इन दिनों अपने सहयोगी दल कांग्रेस को साधने में लगे हैं। हालांकि सरकार में शामिल दोनों दल (कांग्रेस और झामुमो) में इस बात को लेकर समति हो गयी है कि मंत्रिमंडल के गठन को लेकर दोनों दल गतिरोध को ज्यादा तूल नहीं देंगे, बावजूद इसके कांग्रेस का एक खेमा अधिक से अधिक प्रभाव वाला मंत्रिमंडल का पद चाह रहा है।

इधर सूत्रों के हवाले से मिली सूचना में बताया गया है कि कांग्रेस का कोई भी फैसला दिल्ली से होगा और अंतिम मोहर पार्टी के पूर्व राष्टÑीय अध्यक्ष राहुल गांधी ही लेंगे। बता दें कि कांग्रेस को पांच मंत्रिपद की उम्मीद है। यह तक जब पार्टी ने विधानसभा अध्यक्ष का पद ठुकरा दिया गया है। मिल रही सूचना में बताया गया है कि पार्टी के सभी प्रकार के निर्णय फिलहाल दिल्ली से हो रहे हैं और मंत्रिपद किसे मिलेगा यह राहुल गांधी के साथ नाम फाइनल कर कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सीएम हेमंत सोरेन को सूची सौंपेंगे।

फिलहाल राज्य मंत्रिमंडल में कांग्रेस कोटे से दो मंत्रियों को शपथ दिलाई गयी है। शेष के लिए बातचीत जारी है। अभी तक की तैयारियों के अनुसार कांग्रेस पांच मंत्रियों के लिए स्थान पक्का मानकर चल रही है। इसके पीछे तर्क यह है कि पार्टी ने विधानसभा अध्यक्ष का पद लेने से इन्कार कर दिया है। इसके बदले पांच मंत्रियों की बात की जा रही है। हालांकि झामुमो विधायकों की संख्या के हिसाब से कांग्रेस को चार सीटें ही देने को राजी है।

- Sponsored -

अभी तक की तैयारियों के अनुसार राजेंद्र सिंह और बन्ना गुप्ता के पूर्व अनुभवों को देखते हुए टीम में रखे जाने की संभावना है। इसके बाद मौका मिलेगा तो किसी नए चेहरे को मंत्रालय में जगह मिल सकती है और अभी इसी के लिए विधायक दौड़ लगा रहे हैं। सूचना तो यहां तक मिल रही है कि कांग्रेस के कुछ विधायक दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -