Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
BREAKING NEWS


{"effect":"slide-h","fontstyle":"bold","autoplay":"true","timer":"4000"}

Jharkhand Election 2019 : प्रदेश के संगठन महामंत्री धर्मपाल नेतृत्व वाली टीम में दिख रहे हैं नए चेहरे

43

- sponsored -

- Sponsored -

गौतम चौधरी 

रांची : झारखंड प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव को लेकर कुशन प्रबंधन के लिए 43 प्रबंधकीय विभाग का गठन किया है। इन प्रबंधन विभाग में कुल 125 नेता एवं कार्यकर्त्ताओं की टीम लगी हुई है। सच पूछिए तो इन्हीं नेता एवं कार्यकर्त्ताओं के उपर भाजपा का पूरा चुनाव प्रबंधन टिका हुआ है। यह टीम भाजपा की बेहद सतर्क टीम है। फिलहाल इस टीम को देखकर कोई अंदाज नहीं लगा सकता है लेकिन यह टीम भविष्य की झारखंड भाजपा है, जो आने वाले समय में प्रदेश भाजपा की कमाल संभाल सकता है। इस टीम को गढ़ने और प्रशिक्षित करने में प्रदेश भाजपा के महामंत्री संगठन धर्मपाल अपनी पूरी ताकत झोंक रहे हैं। धर्मपाल इस प्रकार के प्रयोग के माहिर रणनीतिकार बताए जाते हैं। चूकि उनकी पृष्ठभूमि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की रही है इसलिए वे इस टीम में भी उन कार्यकर्त्ताओं को बरीयता दी है जो पहले से संगठन की रीति-नीति, कार्यपद्धति और सिद्धांत के जानकार हैं।

- Sponsored -

- sponsored -

वैसे तो प्रदेश भाजपा इस चुनाव के लिए 43 प्रबंधकीय विभागोें का गठन की है लेकिन उसमें से कुल 20 विभाग बेहद महत्वपूर्ण हैं। इसमें सबसे महत्वपूर्ण विभाग भोजन है। बता दें कि चुनाव के समय में कार्यकर्त्ताओं के लिए भोजन की सामूहिक व्यवस्था भाजपा की पुरानी परंपरा रही है। प्रत्याशी के केन्द्रीय चुनाव कार्यालयों में अमूमन भोजन की व्यवस्था तो रहती ही है लेकिन चुनाव के समय भाजपा अपने महत्वपूर्ण कार्यालयों पर भी सामूहिक भोजन की व्यवस्था करती रही है। वैसे अमूमन भोजन बनाने वाले, बर्तन धोने वाले और भोजन परोसने वाले कर्मचारी किराए पर रखे जाते हैं लेकिन इस प्रबंधन को देखने व संभालने के लिए भाजपा अपनी ओर से बेहद महत्वपूर्ण और समझदार कार्यकर्त्ताओं को लगाती है। इस बार प्रदेश मुख्यालय पर भोजन विभाग में मनोज दूबे को लगाया गया है। कुछ कार्यकर्त्ता इनके सहयोग के लिए लगाया गया है। हरमू रोड वाले भाजपा मुख्यालय पर इन दिनों प्रतिदिन 200 से लेकर 1000 लोगों का खाना बनता है। मनोज दूबे भोजन की गुणवत्ता और खाने वाले लोगों पर पैनी नजर रखते हैं। अवांक्षित तत्व भोजन व्यवस्था को बिगाड़ न दे इसके लिए मनोज खासे सतर्क रहते हैं।

उसी प्रकार नुक्कड़ नाटक के लिए नीरज सिंह, विधानसभा में भेजे गए विस्तारों के लिए पंकज सिंहा, पन्ना प्रबंधन के लिए विनय सिंह, कॉल सेंटर के प्रबंधन के लिए मृत्युंजय शर्मा, सोशल मीडिया के लिए भानु जालान, साहित्य प्रकाशन यानी सरकारी की उपलब्धियों के प्रकाशन प्रबंधन के लिए रविनाथ किशोर एवं उमाशंकर केडिया, विभिन्न राष्टÑीय नेताओं की सभाओं प्रबंधन के लिए सांसद सुनील कुमार सिंह, दीपक प्रकाश, विनय जायसवाल, शेखर अग्रवाल, बुद्धिजीवी सम्मेलन प्रबंधन के लिए जयंत सिंहा, धार्मिक नेताओं के प्रवास एवं प्रबंधन के लिए लक्ष्मीचंद्र दीक्षित, जाति व उपजाति के कार्यक्रमों के प्रबंधन के लिए अशोक बड़ाईक, मीडिया प्रबंधन के लिए प्रतुल शाहदेव, शिपपूजन पाठक, प्रदीप सिंहा, प्रेम मित्तल, योगेन्द्र नारायण सिंह, सावंरमल अग्रवाल, केके पोद्दार, अजय राय, मनोज कुमार और मोहम्मद तारिक इमारान को लगाया गया है। फीडबैक के लिए सूरज चौरसिया, टीवी-वीडियो के प्रबंधन के लिए विशाल कुमार एवं ओम प्रकाश पाठक, चुनावी मुद्दे के प्रबंधन के लिए मनोज सिंह, रमेश पुष्कार, विनय सिंह, प्रमोद मिश्र एवं विशाल सिंह को लगाया गया है। प्रशासनिक समन्वय के लिए झारखंड के पूर्व पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय और अमरनाथ झा को लगाया गया है। विधि विभाग प्रबंधन के लिए चन्द्र प्रकाश, विनोद कुमार साहू, राजेश शुक्ला एवं अनिल सिंहा को लगाया गया है। भाजपा ने दृष्टि-पत्र प्रबंधन के लिए जेबी तुबीद एवं बीडी राम जैसे रिटायर प्रशासनिक अधिकारी को लगाया है। कमल दूत जैसे कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए सुबोध सिंह गुड्डू को लगाया गया है। इसके साथ ही राष्टÑीय स्वयंसेवक संघ के विभिन्न संगठनों से समन्वय स्थापित करने की जिम्मेबारी प्रदेश के महामंत्री संगठन धर्मपाल सिंह ने खुद के जिम्मे लिया है। ये तमाम प्रबंधकीय कार्यकर्त्ता अपने-अपने कार्य में दक्ष बताए जाते हैं। फिलहाल भाजपा का प्रचार और प्रबंधन विभाग जो इतना व्यवस्थित दिख रहा है उसके लिए झारखंड प्रदेश भाजपा के संगठन महामंत्री धर्मपाल सिंह की बड़ी भूमिका है। इस प्रबंधन टीम में इस बार कई चेहरे नए दिख रहे हैं, जो भविष्य के भाजपा के बड़े नेता हो सकते हैं। इस प्रबंधन टीम को देखकर कोई अंदाज नहीं लगा सकता है लेकिन वह दिन दूर नहीं जब आने वाले समय में इन्हीं प्रबंधन टीम के हाथ में प्रदेश भाजपा की कमान होगी। इस टीम को खुद धर्मपाल लीड कर रहे हैं। साथ ही साथ इन्हें प्रशिक्षित भी करते जा रहे हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -