सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पटना में लोहड़ी की धूम

- Sponsored -

पटना – मकर संक्रांति से एक दिन पहले धूमधाम से लोहड़ी मनाई जाती है. . मान्यता है कि लोहड़ी के दिन साल की सबसे लंबी अंतिम रात होती है और अगले दिन से धीरे-धीरे दिन बढ़ने लगता है.

ये भी पढें –राज कपूर की बेटी ऋतु नंदा का निधन

 सिक्ख बिरादरी में भी इस पर्व का खासा महत्व है लोहड़ी पर्व को लेकर सिक्ख बरादरी में भी काफी धूम मची है पटनासिटी बाललीला गुरुद्वारा में सिक्ख श्रद्धालुओ ने अलाव जलाकर एक से बढ़कर एक मिष्ठान अलाव में प्रवाहित कर गुरु से अरदास कर कहा कि गुरु का आशीर्वाद हमलोगों के ऊपर सदा बना रहे है।

- Sponsored -

देश मे अमन-चैन की कामना किया।सिक्ख श्रद्धालुओ में भी इस पर्व को लेकर खासा उत्साह है और लोहड़ी पर्व का एक दूसरे को बधाई दिया।

 लोहड़ी का त्योहार का महत्व :

पारंपरिक तौर पर लोहड़ी फसल की बुआई और उसकी कटाई से जुड़ा एक विशेष त्यौहार है. इस अवसर पर पंजाब में नई फसल की पूजा करने की परंपरा है. इस दिन चौराहों पर लोहड़ी जलाई जाती है. इस दिन पुरुष आग के पास भांगड़ा करते हैं, वहीं महिलाएं गिद्दा करती हैं.

 

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored