सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

राजद के नव निर्वाचित जिलाध्यक्षों और जिला के प्रधान महासचिवों की बैठक

राजद के नव निर्वाचित जिलाध्यक्षों एवं जिला के प्रधान महासचिवों की बैठक को सम्बोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि राजद ए टू जेड की पार्टी है जबकि एक साजिश के तहत कुछ लोगों द्वारा इसे एमवाई की पार्टी के रूप में प्रचारित किया जाता रहा है।

- sponsored -

पटनाः- राजद के नव निर्वाचित जिलाध्यक्षों एवं जिला के प्रधान महासचिवों की बैठक को सम्बोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि राजद ए टू जेड की पार्टी है जबकि एक साजिश के तहत कुछ लोगों द्वारा इसे एमवाई की पार्टी के रूप में प्रचारित किया जाता रहा है। राजद यैसी पहली पार्टी है जिसमें अति पिछडी और अनुसूचित जाति/ जनजाति के लिए संगठन में आरक्षण की व्यवस्था लागू की गई है। जिस प्रकार संगठन में समाजिक समीकरण का ख्याल रखा गया है उसी प्रकार विधानसभा चुनाव में भी समाजिक समीकरण का ख्याल रखा जायेगा ।
उन्होंने कहा कि पार्टी में किसी प्रकार का गुटवंदी नहीं होनी चाहिए, राजद मे एक गुट है जो लालू जी का गुट है। लालू जी के नहीं रहने के कारण उनके निर्देशों को आमलोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी हम सबों की है। उनके वैचारिक सिद्धांतों से गांव के लोग प्रभावित हैं उसे वोट में बदलना हम सबों का दायित्व है।

उन्होंने कहा कि जिलाध्यक्ष पद से किसी को हटाया नहीं गया है बल्कि उन्हें पदोन्नति देकर दूसरी जिम्मेवारी दी गई है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि एनआरसी और सीएए केवल मुसलमान का सवाल नहीं है। इसके दुष्प्रभाव से सबसे ज्यादा पिछड़ा, अति पिछड़ा और दलित समुदाय के लोग प्रभावित होंगे। यह कैसा कानून है जिससे बाहर के लोगों को नागरिकता दी जा रही है और देश के नागरिकों को बाहर किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आज सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है। देश में 45 प्रतिशत बेरोजगारी बढ गई है। चार करोड़ से ज्यादा लोगों बेरोजगार हो गये हैं। उन्होंने कहा कि वे शीघ्र हीं ” बेरोजगारी हटाओ यात्रा ” पर निकलने वाले हैं।

नेता प्रतिपक्ष द्वारा नव निर्वाचित जिलाध्यक्षों और प्रधान महासचिवों को प्रमाणपत्र दिया गया और माला पहना कर सम्मानित किया गया। बैठक की अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने किया जबकि संचालन प्रवक्ता चित्तरंजन गगन द्वारा किया गया। जगदानंद ने सभी जिलाध्यक्षों और प्रधान महासचिवों को संगठन का काम हर हाल में फरवरी के अंत तक पुरा कर लेने और मार्च से पार्टी द्वारा निर्धारित संघर्ष के कार्यक्रमों में लग जाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि जिस बूथ और टोले में हमारी ईकाई अबतक नहीं बन पायी है वहाँ शीघ्र गठन का काम पुरा होना चाहिए। संगठन से सभी समुदायों को जोड़ने की आवश्यकता है। जो पहले हमारे साथ थे और आज किन्हीं कारणों से शिथिल पर गये हैं उन्हें पुनः सक्रिय कर मुख्य धारा में लाने की आवश्यकता है। हमें उन कारणों की तलाश करनी होगी कि सबसे बड़ा जनाधार के बावजूद उसे हम वोट में क्यों नहीं बदल पाते हैं। हमें उसका समाधान ढूंढना होगा।

- Sponsored -

पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डाॅ रघुवंश प्रसाद सिंह ने पार्टी द्वारा निर्धारित संघर्ष के बिन्दुओं और प्रस्तावित आन्दोलन के स्वरूप पर विस्तार से प्रकाश डाला। जबकि दूसरे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने विस्तार से एनआरसी और सीएए के दुष्परिणामों की चर्चा की। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामचन्द्र पूर्वे ने संगठन के स्वरूप प्रकाश डालने का काम किया। बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष अशोक कुमार सिंह और डाॅ तनवीर हसन के साथ हीं मदन शर्मा, निराला यादव, डाॅ प्रेम कुमार गुप्ता, निर्भय अम्बेडकर सहित अधिकांश नव निर्वाचित जिलाध्यक्ष और जिला के प्रधान महासचिव उपस्थित थे।

ये भी पढ़ेंः- लोजपा प्रदेश कार्यालय में मिलन समारोह का किया गया आयोजन

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -