सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अनुमंडलीय अस्पताल में महिला डॉक्टर के साथ बदसलूकी 

बिक्रमगंज अनुमंडल अस्पताल में महिला डॉक्टर सुरक्षित नहीं है। यह आरोप लगाते हुए अनुमंडल अस्पताल बिक्रमगंज में पदस्थापित डॉ बीना रानी ने बताया कि अनुमंडल अस्पताल बिक्रमगंज में डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए सिक्योरिटी गार्ड को लगाया गया है।

- sponsored -

धर्मेंद्र कुमार सिंह की रिपोर्ट

रोहतास:- जिले के बिक्रमगंज अनुमंडल अस्पताल में महिला डॉक्टर सुरक्षित नहीं है। यह आरोप लगाते हुए अनुमंडल अस्पताल बिक्रमगंज में पदस्थापित डॉ बीना रानी ने बताया कि अनुमंडल अस्पताल बिक्रमगंज में डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए सिक्योरिटी गार्ड को लगाया गया है। सिक्योरिटी गार्ड के द्वारा अपनी ड्यूटी का जिम्मेवारी पूर्वक नही किया जाता है और ड्यूटी करने में घोर लापरवाही किया जाता है। जिसका भुक्तभोगी खुद डॉक्टर भी हो रहे हैं।

डॉ बिना रानी ने बताया कि ड्यूटी के दौरान अपने ड्यूटी रूम में थी इसी बीच उन्हें जानकारी मिली कि एक दुर्घटना का शिकार मरीज आया है। जाकर देखने के बाद पता चला कि वह मरीज दुर्घटना का शिकार नही है बल्कि उसको गोली मारा गया है। जांच करने के बाद पाया गया कि उसकी मृत्यु हो चुकी है। मरीज के परिजन को यह बताने के बाद परिजन चेम्बर में घुसकर बदसलूकी करने लगे।

- Sponsored -

डॉ0 बीना रानी ने बताया कि अगर सिक्योरिटी गार्ड अपने ड्यूटी पर तैनात रहता तो लेडीज डॉ0 के चेम्बर में मरीज का परिजन घुसकर बदसलूकी नही करता। वही डॉ बीना रानी ने अपनर विभाग पर भी वेतन भुगतान नही करने का आरोप लगाते हुए बताया गया कि विभाग के द्वारा वर्ष 2016 से ही वेतन नही दिया जा रहा है। बहानेबाजी किया जा रहा है कि आवंटन नही है। ऐसे में डॉ0 का परिवार भुखमरी के कगार पर है और जब डॉक्टर सुरक्षित ही नही है तो ड्यूटी कैसे करें।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored