Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
BREAKING NEWS


{"effect":"slide-h","fontstyle":"bold","autoplay":"true","timer":"4000"}

Looks like you have blocked notifications!

विभागीय लापरवाही के कारण बनकर तैयार आरओबी का नही हो रहा है उद्घाटन

वारिसलीगंज बाजार को जाम से मुक्ति दिलाने को लेकर एसएच 83 में वारिसलीगंज रेलवे स्टेशन के उत्तर आरओबी लगभग बनकर तैयार हो चुका है। लेकिन रेलवे के इलेक्ट्रिक विभाग के आदेश की प्रतीक्षा में आरओबी का कुछ भाग अधूरा पड़ा है।

8

- sponsored -

- Sponsored -

नवादाः  जिले वारिसलीगंज बाजार को जाम से मुक्ति दिलाने को लेकर एसएच 83 में वारिसलीगंज रेलवे स्टेशन के उत्तर आरओबी लगभग बनकर तैयार हो चुका है। लेकिन रेलवे के इलेक्ट्रिक विभाग के आदेश की प्रतीक्षा में आरओबी का कुछ भाग अधूरा पड़ा है। आरओबी निर्माण कंपनी के अधिकारियों के अनुसार आरओबी के निर्माण का 95 फीसदी कार्य पूरी की जा चुकी है। सिर्फ रेल विद्युतीकरण के बायर को थोड़ा नीचे करने के रेलवे का इलेक्ट्रिक सेक्सन से आदेश की प्रतीक्षा में कार्य रुका हुआ है।

बताया गया कि संभावना है कि अप्रैल माह में कार्य पूरा कर आरओबी को चालू कर दिया जायेगा। आरओबी के अभियंता के अनुसार जिस समय 2016 में निर्माण की स्वीकृति मिली थी तब जो रेल इलेक्ट्रिक वायर की ऊँचाई पटरी से करीब छह मीटर था। जो अब बढ़कर छः मीटर से अधिक हो गया है। चुकी आरओबी का नक्शा पूर्व के पैटर्न पर बना था। जिससे पूल तार को छूने लगा है। फलतः कार्य को रोककर विभाग से तार की ऊंचाई कम करने का आवेदन दिया गया है। जिसकी स्वीकृति अंतिम चरण में है।

- Sponsored -

- sponsored -

बताया गया कि स्वीकृति मिलते हीं आरओबी का कार्य महज कुछ दिनों में पूर्ण कर लिया जाएगा। बता दें कि बाघी बरडीहा मोड़ से बरबीघा तक करीब 38 किलोमीटर एसएच 83 नामक सड़क दो बर्ष पूर्व बनकर तैयार हो चुका है। परंतु सड़क बनने के बाद बरबीघा से झारखंड, सिकन्दरा से धनबाद, कोलकत्ता आदि स्थानों तक चलने वाले वाहनों समेत सकरी नदी के विभिन्न बालू घाटो से प्रतिदिन सैकड़ो छोटे बड़े वाहन वारिसलीगंज बाजार होकर गुजरने लगा फलतः बाजार को जाम से जूझना पड़ रहा है। क्षेत्रवासियों की मांग पर वाईपास होकर रेलवे स्टेशन से उतर सिमरीबीघा गांव के पास आरओबी के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की गई।

2016 में जब आरओबी का कार्यारम्भ किया गया तब भूमि अधिग्रहण से संबंधित विवाद उभर गया। जिसमें निर्माण कंपनी को एक बर्ष तक कार्य रोकना पड़ा। और अब जब सारा पूल बनकर तैयार हो चुका है। तो पटरी के ऊपर आरओबी को जोड़ने में इलेक्ट्रिक वायर से वादा उत्पन्न होने लगी। जिसका विभगीय स्तर से निष्पादन में विलंब उद्धघाटन में देर का कारण बना है। फिर भी कहा जा रहा है कि अप्रैल माह में आरओबी का उदघाटन संभावित है। आरओबी के चालू होने पर वारिसलीगंज बाजार को जहाँ जाम से मुक्ति मिलेगी। वही वाहनों के रफ्तार में रुकावट लगना बंद हो जाएगा।

ये भी पढ़ेंः- बैंकों की सुरक्षा करेंगे विशेष सुरक्षा दल के ट्रेंड होमगार्ड

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored