Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

चैत्र नवरात्र का दूसरा दिन, मां ब्रह्मचारिणी की हो रही पूजा

62

चैत्र नवरात्र का दूसरा दिन है और इस अवसर पर मां ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। मां ब्रह्मचारिणी की पूजा तप और जप की शक्ति के रूप में की जाती है। मां के नाम में ही उनकी महिमा का वर्णन है। ब्रह्म का अर्थ है तपस्‍या और चारिणी का अर्थ है आचरण करने वाली। यानी मां ब्रह्मचारिणी का अर्थ है तप का आचरण करने वाली मां को शत-शत नमन है।

- sponsored -

- Sponsored -

मां के दाएं हाथ में जप माला और बाएं हाथ में कमंडल शोभित है। मां दुर्गा के इस रुप की पूजा करने से मनुष्य को भक्ति और सिद्धी दोनों की प्राप्ति होती है। हजारों वर्षो तक अपनी कठिन तपस्या के कारण ही उनका नाम मां ब्रह्मचारिणी रखा गया। तपस्या की इस अवधि में उन्होंने कई वर्षों तक निराहार रहकर कठिन तप से महादेव को प्रसन्न किया। और इस तरह मां ब्रहमचारिणी के रुप में स्थापित हुई। जिनकी पूजा औज धूम धाम से हर घर में की जा रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -

%d bloggers like this: