सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

नियोजित शिक्षकों के बगावती तेवर से मानव श्रृंखला पर असर पड़ने की आसार

सासाराम में जल जीवन हरियाली, बाल विवाह, दहेज प्रथा और नशामुक्ति को लेकर 19 जनवरी रविवार को मानव श्रृंखला का निर्माण होना है। जिसकी शतप्रतिशत सफलता के लिए जिला प्रशासन ने अपना न केवल कमर कस कर एड़िचोटी एक कर दिया है बल्कि इस राज्यब्यापी अभियान का आम जनमानस में जागरूकता का संदेश फैलाने तथा श्रृंखला का हिस्सा बनने को लेकर जिले के विभिन्न चौक चौराहो पर एक से बढ़कर एक स्लोगन लिखे बड़े बड़े होडिंग,गुबारा,बैनर आदि लगाए गए है।

- sponsored -

दुर्गेश किशोर तिवारी

रोहतासः- जिले के सासाराम में जल जीवन हरियाली, बाल विवाह, दहेज प्रथा और नशामुक्ति को लेकर 19 जनवरी रविवार को मानव श्रृंखला का निर्माण होना है। जिसकी शतप्रतिशत सफलता के लिए जिला प्रशासन ने अपना न केवल कमर कस कर एड़िचोटी एक कर दिया है बल्कि इस राज्यब्यापी अभियान का आम जनमानस में जागरूकता का संदेश फैलाने तथा श्रृंखला का हिस्सा बनने को लेकर जिले के विभिन्न चौक चौराहो पर एक से बढ़कर एक स्लोगन लिखे बड़े बड़े होडिंग,गुबारा,बैनर आदि लगाए गए है।

मजेदार बात यह है कि स्लोगन युक्त टांगे गए होडिंग बैनर न सिर्फ राहगीरों व पदयात्रियों आदि को अपनी ओर आकर्षित कर रही है बल्कि समाजिक कुरीतियों को जड़ से समाप्त करने के लिए दर्शाया गया स्लोगन को पढ़ने पर विवश होना पड़ रहा है।यह मानव श्रृंखला रोहतास के वादियों व दुर्गम पहाड़ियों के बीच से गुजरे मुख्य पथ से लेकर मैदानी इलाकों के राष्ट्रीय राज्य मार्ग व स्टेट हाइवे के मुख्य पथों पर आम से लेकर खास तक कतारबद्ध होकर समाजिक कुरीतियों को दूर भगाने का एक बार फिर से संदेश का प्रयास करेंगे।

- Sponsored -

इस मानव श्रृंखला का शिक्षक भी मजबूत स्तम्भ माने जाते है।लेकिन शिक्षको का एक भाग इस राज्यब्यापी अभियान की सफलता से पूर्व ही नराज दिखने लगा है।इनके बगावती तेवर से जिला प्रशासन भी सकते आता दिखने लगा है।लेकिन कोई अधिकारी फिलहाल अपना मुंह खोलने को तैयार नही है।मिल रही जानकारी के मुताबित नियोजित शिक्षकों का आरोप है कि- बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति,( पटना)  के द्वारा नियोजित शिक्षकों की पुरानी मांग समान काम समान वेतन, सेवा शर्त एवं पुरानी पेंशन लागू करने के संबंध में ज्ञापित किया गया था। जिसका अंतिम समय 15 जनवरी 2020 निर्धारित था। जिसको बिहार सरकार ने लागू नहीं किया। इससे क्षुब्ध होकर  दावथ  प्रखंड के नियोजित सभी शिक्षक 19 जनवरी को आयोजित मानव श्रृंखला का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।

इस संबंध में संघ के पत्रांक 1, दिनांक 16 जनवरी 20 के द्वारा दावथ  बीडीओ को लिखित सूचना भी दी गई है।कयास लगाया जा रहा है कि जिला प्रशासन समय रहते नियोजित शिक्षकों के तेवर पर विराम नही लगाती तो आयोजित मानव श्रृंखला पर असर पड़ने की संभावना से इनकार नही किया जा सकता है।क्योंकि श्रृंखला में स्कूली बच्चों व इनके अभिभावकों की बड़ी संख्या में सहभागिता होती है ।जिसको शिक्षक प्रेरित कर अभियान में शामिल कराते रहे है।फिलहाल जिला प्रशासन अपनी एक सूत्री कार्यक्रम के तहत जल जीवन हरियाली,बालविवाह, दहेजप्रथा व नशामुक्ति को लेकर लगातार मैराथन बैठक से लेकर शहर बाजार से गांव व कस्बो की गलियों तक अपनी एडिचोटी एककर जोरशोर से प्रचार प्रसार में जुटती नजर आ रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -