सन्मार्ग लाइव
सनसनी नहीं, सटीक खबर

अस्पताल पहुंचते ही एम्बुलेंस पर कोरोना मरीज को आखिर क्या हुआ कि कर्मी भाग खड़े हुए !

- Sponsored -

सुपौल – त्रिवेणीगंज स्थित बुनियादी सुविधा केन्द्र में बने कोविड केयर अस्पताल पहुँचते ही एक कोरोना पीड़ित व्यक्ति की मौत हो गई।जानकारी देते हुए अनुमंडलीय अस्पताल के सुपरिटेंडेंट डॉ आरपी सिन्हा ने बताया गया कि कोरोना पीड़ित को छातापुर पीएचसी से यहाँ भेजा गया था जिसकी मौत हो गई है।इधर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पीडित जिले के प्रतापगंज थाना क्षेत्र के भवानीपुर पंचायत के वार्ड नं 7 निवासी बताया जा रहा है जिसकी उम्र करीब 65 वर्ष बताई जा रही है इधर आपको बता दें कि आज ही कोरोना पीड़ित मृत 65 वर्षीय व्यक्ति औऱ इनकी पत्नी की कोरोना रिपोर्ट पोजेटिव आई थी औऱ दोनों पति पत्नी को छातापुर पीएचसी से त्रिवेणीगंज कोविड केयर सेंटर रेफर किया गया था जिसे एम्बुलेंस से त्रिवेणीगंज में बने बुनियादी सुविधा केन्द्र में कोविड केयर अस्पताल लाया गया।जहाँ एम्बुलेंस पर ही कोरोना पीड़ित 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई।मौत होते ही एम्बुलेंस कर्मी एम्बुलेंस छोड़ फरार हो गए।आपको यह भी बता दें कि कोरोना पीड़ित मृत 65 वर्षीय व्यक्ति के साथ एम्बुलेंस में उसकी पत्नी बैठी हुई है जिसका सुध लेने वाला स्वास्थ्य विभाग के कोई कर्मी नहीं है जानकारी मिलने पर करीब अनुमंडलीय अस्पताल के सुपरिटेंडेंट डॉ आरपी सिन्हा मौके पर पहुँच कर खानापूर्ति शुरू कर दिए हैं लेकिन मृतक की पत्नी जो कोरोना पोजेटिव हैं अभी भी अपने पति कोरोना पीड़ित मृत व्यक्ति के शव के साथ वहीं पर है।मृत कोरोना पीड़ित के शव को एम्बुलेंस में छोड़ कर्मी तो फरार हो हीं गए हैं इसके साथ ही कोविड केयर अस्पताल के सफाई कर्मी नियुक्त किए गए थे वे भी फ़रार हो गए हैं।आलम यह देखा गया कि कोरोना पीड़ित की मृत्यु के बाद घंटों तक अफरा तफ़री का माहौल बना रहा।वहीं त्रिवेणीगंज अस्पताल के प्रबंधक प्रेम रंजन के अनुसार मृतक की पत्नी जो कोरोना पोजेटिव है उसे होम कोरेनटाइन रखा जाएगा।लेकिन कोरोना पीड़ित का शव एम्बुलेंस में इस तरह से पड़े रहना बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोल रहा।

संत सरोज

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored