Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News
Breaking News
कश्मीर पर ट्रंप का बड़ा बयान, मोदी ने मोदी ने ट्रंप से मध्यस्थता करने की अपील की थीछात्र के साथ पुलिसकर्मियों ने की बदसलूकीपंचवटी ज्वेलरी शॉप में 5 करोड़ के लूट के मामले में खुलासा, 3 को किया गिरफ्तारपुलिस प्रशासन को फिर अपराधियों ने दी खुली चुनौती, घर मे घुसकर सोये हुए प्रोपर्टी डीलर की कर दी हत्याचाय की दुकान में पुलिस की छापेमारी, भारी मात्रा में गांजा बरामदsahara group ने जमाकर्ताओं के पैसे वापस नहीं किए तो सरकार करेगी कार्रवाई : मोदीChandrayaan-2 की लॉन्चिंग सफल, दुनिया में भारत का डंका बजाSBI की ऑनलाइन सेवायें बाधित ? ग्राहक परेशानदरभंगा शहरी क्षेत्र के कई इलाकों में पानी प्रवेश कर गयागोली मार कर महिला डाक कर्मी कि की हत्या, भीड़ ने आरोपी को पकड़ कर पीट पीट कर मार डाला

‘एक राष्ट्र एक चुनाव’ समय की मांग – राष्ट्रपति

- sponsored -

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश में लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव साथ-साथ कराने के सरकार के प्रस्ताव को विकासोन्मुखी बताते हुये सभी सांसदों से इस पर गंभीरता से विचार करने का आग्रह किया है।श्री कोविंद ने गुरूवार को संसद के दाेनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करते हुये सभी सांसदों का आह्वान किया कि वे ‘एक राष्ट्र एक साथ चुनाव’ के प्रस्ताव पर गंभीरता से विचार करें। उन्होंने इस प्रस्ताव को विकासोन्मुखी बताते हुये कहा कि आज समय की मांग है कि इस तरह की व्यवस्था काे लागू किया जाये ताकि देश का विकास तेजी से हो सके और देशवासी लाभान्वित हों।
उन्होंने कहा कि सरकार का मानना है कि सभी राजनैतिक दल, राज्य और 130 करोड़ देशवासी भारत के समग्र और
त्वरित विकास के लिए एकमत हैं। हमारे जीवंत लोकतंत्र में पर्याप्त परिपक्वता आ गई है। पिछले कुछ दशकों के दौरान देश के किसी न किसी हिस्से में प्रायः कोई न कोई चुनाव आयोजित होते रहने से विकास की गति और निरंतरता
प्रभावित होती रही है। देशवासियों ने राज्य और राष्ट्रीय स्तर के मुद्दों पर, अपना स्पष्ट निर्णय व्यक्त करके,
विवेक और समझदारी का प्रदर्शन किया है।राष्ट्रपति ने कहा कि आज समय की मांग है कि ‘एक राष्ट्र – एक साथ चुनाव’ की व्यवस्था लाई जाए जिससे देश का विकास तेज़ी से हो सके और देशवासी लाभान्वित हों। ऐसी व्यवस्था होने पर सभी राजनैतिक दल अपनी विचारधारा के अनुरूप, विकास तथा जनकल्याण के कार्यों में अपनी ऊर्जा का और अधिक उपयोग कर पाएंगे।
उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस प्रस्ताव पर चर्चा के लिये बुधवार को सर्वदलीय बैठक बुलायी थी जिसमें इस मुद्दे का अध्ययन करने के लिये एक समिति गठित करने का फैसला लिया गया। श्री मोदी इस समिति का गठन करेंगे। कांग्रेस सहित कई दलों ने इस बैठक में हिस्सा नहीं लिया।

Before Author Box 300X250
Befor Author Box Desktop 640X165
After Related Post Desktop 640X165
After Related Post Mobile 300X250