Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

मातमी माहौल में संपन्न हुआ मुहर्रम

18

- sponsored -

- Sponsored -

सासाराम जिले में हजरत इमाम हुसैन की शहादत को याद करते हुए बुधवार को मातमी माहौल में मोहर्रम पर्व संपन्न हुआ। मोहर्रम के 11वें दिन शहर एवं आसपास के कई इलाकों से ताजिए को जुलूस की शक्ल देकर शेरशाह सूरी के मकबरे के समीप स्थित कर्बला के मैदान में पहलाम किया गया। इससे पूर्व पूरे शहर में नाल साहब को जुलूस के साथ घुमाया गया तथा जुलूस में शामिल लोगों ने या हुसैन या अली के नारे लगातार लगाए रहे। शिया समुदाय के लोगों ने मुहर्रम की नौवीं एवं 10 वीं तारीख को रोजे रखे वहीं सुन्‍नी समुदाय के लोगों ने मुहर्रम महीने में 10 दिन तक रोजा रखा तथा मस्जिदों एवं घरों में इबादत की।पूरा शहर हाय हुसैन के नारों से गूंजता रहा। जुलूस में शामिल युवाओं ने हुसैन की शहादत को याद करते हुए अपने ऊपर कोड़े बरसाए तथा जुलूस के रास्ते में जगह-जगह रुककर अपनी कलाबाजीयों का भी प्रदर्शन किया। इस दौरान कलाकारों ने दर्शकों की खूब वाहवाही लूटी तथा उनका मनोरंजन किया। शहर के कई मोहल्लों एवं आसपास के इलाकों में ताजियों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। मोहर्रम की 11वीं तारीख को इमाम हुसैन का प्रतीक माने जाने वाले ताजिए को कर्बला के मैदान में बारी बारी से बुधवार की देर शाम तक पहलाम किया गया।
पर्व को लेकर जिला पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। शहर के विभिन्न जगहों पर दंडाधिकारी के साथ प्रर्याप्त पुलिस बल तैनात रहे तथा वरिष्ठ पुलिस व प्रशासनिक पदाधिकारी भी जगह जगह गश्त करते दिखे। जुलूस के दौरान डीजे बजाने पर भी प्रशासन द्वारा पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया था। लाइसेंस प्राप्त जुलूस की सुरक्षा के लिए पर्याप्त सुरक्षा बल की भी तैनाती की गई थी। वहीं जुलूस की प्रशासन द्वारा वीडियोग्राफी भी कराई गई। जुलूस के रास्ते में जिले के कई सामाजिक संगठनों द्वारा लोगों के लिए जलपान की व्यवस्था भी की गई थी तथा वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। प्रशासन के सहयोग से पूरे जिले में मोहर्रम का पर्व शांति एवं सौहार्द पूर्ण माहौल में संपन्न कराया गया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -