Sanmarg Live
Hindi News - Breaking News, Latest News in Hindi, हिंदी में समाचार, : Sanmarg Live, Morning India, Aawami News

शेखपुरा में जल संकट के बावजूद भी जल की हो रही बर्बादी

- sponsored -

शेखपुरा  जिले में प्रशासनिक स्तर से की गई सर्वेक्षण के अनुसार पेयजल संकट भूगर्भ जल स्तर के नीचे गिरने से उत्पन्न हुई है। जल संकट के बावजूद भी नगर क्षेत्र के बड़ी संगत पुल पर बड़े पैमाने पर पेयजल की बर्बादी हो रही है। बर्बादी इतनी की मुख्यमार्ग पर पानी के फैलाव से लोंगों को चलना मुश्किल हो रहा है। इस संदर्भ में स्थानीय मदन मालाकार ने कहा कि पेयजल की हो रही यहां बर्बादी को लेकर कई बार नगर परिषद को बताया गया, लेकिन नगर परिषद का कोई कर्मी या पदाधिकारी देखने पहुंचे। मालाकार ने कहा कि बड़ी संगत पुल पर जो हर घर नल जल योजना से ट्यूबवेल लगाया गया है उससे बड़े पैमाने पर पेयजल की बर्बादी हो रही है ।इस ओर न तो नगर परिषद ध्यान दे रहा है और न ही इस ट्यूबेल के कार्य को अधूरा छोड़ने वाले संवेदक ही।उसने बताया कि हर घर तक पाइप नहीं जोड़ने से लोग वहीं आकर मोटर चलाकर पानी लेते हैं जिससे पानी की बर्बादी होती रहती है। बताया गया कि नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न मोहल्लों में नगर परिषद के द्वारा लोगों के पेयजल संकट को दूर करने के लिए जो चापाकल गाड़ा गया था वह ज्यादातर खराब पड़े है लेकिन नगर परिषद की ओर से इस ओर भी पहल  नहीं किए जाने से मोहल्ले में जल संकट रहने से आक्रोश पनप रहा है। नगर परिषद के सरकारी सूत्रों ने बताया कि नगर परिषद के द्वारा नगर क्षेत्र में कुल 120 चापाकल गाड़े गए है जिसमें 60 चापाकल कार्यरत है। 60 खराब पड़े हैं ।इसके लिए मरम्मत करने की प्रक्रिया की जा रही है । वहीं डीएम स्कूल के पास विधायक फंड से गाड़े गए चापाकल भी महीनों से खराब पड़े हैं लेकिन आज तक इस चापाकल की मरम्मती करने वाला कोई  नहीं है। जबकि डीएम स्कूल में पढ़ने वाले छात्र भी इस चापाकल का पानी पीते थे और मोहल्ले वाले भी सप्लाई की आपूर्ति नहीं रहने पर इस चापाकल के पानी का उपयोग करते हैं। लेकिन यह चापाकल महीनों से खराब पड़ा है। सुरेश यादव ने कहा कि कई बार इस चापाकल की मरम्मत वे खुद अपने खर्च से करवाये है । इस छापाकल को देखने वाला कोई अधिकारी नहीं है। वहीं बड़ी संगत पुल पर जल की बर्बादी को लेकर डीएम इनायत खान ने गंभीरता से लिया और नगर परिषद को अविलम्ब जल की बर्बादी को रोकने का निर्देश दिया।

Befor Author Box Desktop 640X165
Before Author Box 300X250
After Related Post Desktop 640X165
After Related Post Mobile 300X250